ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
इग्नू का तैतीसवाँ दीक्षान्त समारोह सम्पन्न
February 17, 2020 • Avi Dubey

इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय का तैतीसवॅा दीक्षंात समारोह सोमवार 17 फरवरी 2020 को सम्पन्न हुआ। मुख्य समारोह इग्नू मुख्यालय मैदानगढ़ी, नई दिल्ली में आयोजित हुआ जहाँ श्री रमेश पोखरियाल निशंक  माननीय मंत्री, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार, मुख्य अतिथि थे और उन्होने दीक्षान्त भाषण दिया।  प्रो. आर. जे. राव, कुलपति, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, भोपाल सम्मानित अतिथि के रूप में इस कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। इसी तारतम्य में 39 क्षेत्रीय केन्द्रों पर साथ-साथ दीक्षान्त समारोह आयोजित किया गया जहाँ पर परास्नातक एवं स्नातक स्तर के व्यवसायिक पाठ्यक्रमों के विद्यार्थियों को व्यक्तिगत रूप से उपाधि प्रदान की गयी।

भोपाल में यह कार्यक्रम सम्पर्ण मध्य प्रदेश के छात्रो के लिए इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र के सभागार में आयोजित किया गया  जहाँ पर क्षेत्रीय केन्द्र जबलपुर एवं क्षेत्रीय केन्द्र भोपाल के लगभग 3000 अह्रर्य अभ्यर्थियों में से लगभग 300 विद्यार्थियों को व्यक्तिगत रूप से उपाधि प्रदान की गयी। इस 33 वें दीक्षांत समारोह में पूरे भारत में 2,31,573 विद्यार्थियों की उपाधि पूर्ण होने की घोषणा की गई। क्षेत्रीय केन्द्र भोपाल के अंतर्गत 1888 विद्यार्थियों को एवं क्षेत्रीय केन्द्र जबलपुर के अर्न्तगत 922 उपाधियां प्रदान की गयी, जिनमें क्षेत्रीय केन्द्र भोपाल और जबलपुर के 626 स्नातकोत्तर उपाधियां और 899 स्नातक उपाधियां 575 डिप्लोमा और 711 प्रमाणपत्र सम्मिलित हैं। क्षेत्रीय केन्द्र के समारोह में प्रो. आर. जे. राव, कुलपति, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, भोपाल सम्मानित अतिथि थे।

डॉ. उमेश चन्द्र पाण्डेय, क्षेत्रीय निदेशक ने अपने स्वागत भाषण में सभी उपाधी धारक विद्याार्थियों को बधाई देते हुए कहा काी भारत जैसे विशाल देश के लिए दूरस्थ एवं मुक्त शिक्षा एक सुदृण विकल्प है जो गुणवत्ता सुनिश्चित करते हुए उच्च शिक्षा में प्रतिभागीता के प्रतिशत को  बढाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय क्षेत्रीय केन्द्र भोपाल द्वारा किये जा रहे शिक्षा के प्रसार एवं शासकीय महाविद्यालयों मे इग्नू अध्ययन केन्द्र स्थापित करने के प्रयाास को विस्तार से बताया।  क्षेत्रीय निदेशक ने   क्षेत्रीय केन्द्र के समक्ष उच्च शिक्षा को जन-जन तक प्रसारित करने में आ रही चुनौतियों का वर्णन करते हुए कहा   की  समुदाय आधारित संस्थाओं को विश्वास में लेकर इग्नू अपने  लक्ष्य समुहो तक पहुचने  का प्रयास करेगी जिससे  दूरदराज के छात्रों की प्रतिभागिता उच्च शिक्षा में बढ  सकें। क्षेत्रीय निदेशक ने युवा विद्यार्थियों के रोजगार  के विकास तथा कार्यरत व्यक्तियों के कौशल अभिवृद्धि किए जा रहे प्रयासो के बारे मेेंं विस्तार से बताया।  

इसके अतिरिक्त दूरस्थ विद्यार्थियों द्वारा पर्यावरण संरक्षण, जल संरक्षण एवं वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम में भााग लेने पर उन्हे बधाई दी एवं उनके माध्यम से संरक्षण तथा स्वक्षता का संदेश जन-जन तक पहुचाने के लिए आवाहन किया। इग्नू द्वारा प्रारंभ नवीन पाठ्यक्रमों एवं निःशुल्क शिक्षा योजना  की जानकारी देतु हुए क्षेत्रीय निदेशक ने कहा की शैक्षणिक रूप से पिछ़ड़े हुए क्षेत्रों में शिक्षा के प्रचार हेतु विशेष अभियान प्रारम्भ किए गए है जिससे इन क्षेत्रों में निवास कर रहे व्यक्तियों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा उनके घर द्वार पर प्राप्त हो सके।
 
विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रो. आर. जे. राव, कुलपति, बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, भोपाल  इस कार्यक्रम में उपस्थित थे तथा उन्होने भी उपाधि प्राप्त करने वाले छात्रों का मनोबल बढ़ाया। प्रों. राव  ने अपने उद्बोधन  में दूरस्थ शिक्षा के इतिहास एवं विकास पर प्रकाश डालते हुए, इग्नू की स्थापना को शौक्षणिक आवश्यकतओं को पूर्ण करने के लिए एक महत्वपूर्ण  स्थम्भ बताया। उन्होनेे यह भी कहा कि  इग्नू अपनी उत्कृष्ट पाठ्य सामग्री के माध्यम से सारभौमिक रूप से ज्ञान समाज के हर वर्ग एवं भौगोलिक रूप से सुदूर क्षेत्रों में असीम छात्रों तक पहुँचाने की क्षमता रखता है। अपने दीक्षान्त भाषण में उपाधि एवं स्वर्ण पदक प्राप्त विद्यार्थियों को बधाई देते हुए कहा कि उपाधि प्राप्त करने के पश्चात् विद्यार्थियों के पास रोजगार एवं उद्यम के अनेक अवसर प्राप्त होंगे परन्तु साथ साथ नई चुनौतियां तथा सामाजिक एवं  आर्थिक  जटिलतायें भी आएंगी जिनका समाधान छात्रों को अपने अर्जित ज्ञान तथा अनुभव के आधार पर करना होगा। प्रो राव ने अपने संदेश में युवा छात्रों से कहा कि जब वह इस अर्जित ज्ञान के माध्यम से सेवा के क्षेत्र में आयेंगे तो उन्हें अपनी कौशल दक्षता, ज्ञान एवं सकारात्मक सोच से परिवार, समाज एवं देश का चहुमुखी विकास करना होगा एवं  उन्हें अपने सुदृढ़ व्यक्तित्व का निमार्ण करना चाहिए जिससे उनके कार्यक्षेत्र में उन्हें सफलता मिल सके। सेवारत् विद्यार्थियों को  कुलपति महोदय ने यह सन्देश दिया कि सेवाकाल में रहते हुए इग्नू के माध्यम से जो ज्ञान एवं कौशल अर्जित किया है उसका प्रयोग उन्हें अपनी सेवा क्षेत्र  में करना चाहिए जिससे समाज का कल्याण हो सके एंव उनकी स्वयं की सेवा कुशलता में बढ़ोत्तरी हो सके। 
 इस दीक्षांत समारोह में मध्यप्रदेश से 03 छात्रों को स्वर्ण पदक दिया जिनमें से  एमए दर्शन शास्त्र की सुश्री. अपूर्वा गौतम, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन होटल ऑपरेशनस में श्री अब्दुल अकील खान तथा जबलपुर से  डिप्लोमा इन वुमेन डेवलप्मेंट पाठ्यक्रम में सुश्री. शिवानी जाटव ने सर्वोच्च अंक प्राप्त करके स्वर्ण पदक अर्जित किया। श्री मनीष विश्वकर्मा ने बी0कॉम पाठ्यक्र में अच्छे प्रदर्शन के लिए दिव्यांग श्रेणी मे नगद पुरस्कार प्राप्त किया हैं। स्वर्ण पदक एवं पुरस्कार नई दिल्ली के मुख्य  दीक्षांत समारोह में प्रदान किया गया। 
इस दीक्षांत समारोह में जबलपुर केन्द्र के क्षेत्रीय निदेशक डॉ एस श्रीनिवास, इग्नू मूल्यांकन केन्द्र की प्रभारी डॉ बिनी टॉम्स, सहित इग्नू क्षेत्रीय केन्द्र के सभी अधिकारी डॉ अंशुमन उपाध्याय, डॉ सुभाष रंजन नायक, श्री सीपी मुरसेनिया, श्री अजित सिंह , श्री श्रीकान्त हुल्डे समेत अन्य मौजूद रहे तथा अन्त में डॉ0 कुमुद वर्मा सहायक क्षेत्रीय निदेशक ने सभी छात्रों, अतिथियों एवं मीडियाकर्मियों को धन्यवाद ज्ञापित किया, इस कार्यक्रम का संचालन डॉ वरलक्ष्मी इन्द्रकांती ने किया।