ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
नर्सिग छात्र  करेंगे विधानसभा घेराव
September 20, 2019 • Avi Dubey
सरकार के वचन पत्र (घोषणा पत्र) में शामिल नर्सिग क्षेत्र के वायदों (मुद्दों) को पूरा न किए जाने के विरोध में 18.9.2019 को नीलम पार्क जहॉगीराबाद भोपाल में एक दिवसीय धरना देकर सांकेतिक भूख हडताल की गई और  मुख्य मंत्री के नाम ज्ञापन सौपा गया। नर्सिग छात्र संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल पाराशर ने बताया कि कांग्रेस सरकार द्वारा विधान सभा चुनावों के समय नर्सिग क्षेत्र के मुददों को अपने वचन पत्र में शामिल किया गया था और सरकार बनने के 100 दिन के अंदर वायदों को पूरा करने के लिए कहा था लेकिन अब सरकार बनने के लगभग 300 दिनों बाद भी वायदों को पूरा नही किया गया है।
संगठन के प्रदेश अधक्ष प्रवीण राजपूत के अनुसार संगठन द्वारा मेल नर्स कि भर्तियाँ खुलवाने जैसी प्रमुख मांगों को लेकर विगत 5 वर्षों से लगातार आंदोलन प्रदर्शन किए जा रहें है और कलेक्टर महोदय से लेकर स्वास्थ्य मंत्री जी मुख्य मंत्री जी को कई बार ज्ञापन सौपे गए लेकिन कोई कार्यवाही नही कि जा रही है विगत 8 जुलाई को भोपाल में संगठन द्वारा कि गई भूख हडताल के दौरान स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट जी से मुलाकत हुई थी और उन्होने आगामी सभी भर्तियों में मेल नर्स को शामिल कराने का अश्वासन दिया था पर यह अश्वासन भी झूठा निकला। पूरे देश में केवल मध्य प्रदेश ही एकमात्र राज्य जहाँ मेल नर्स कि सरकारी भर्तियों पर रोक लगा रखी है जबकि देश के अन्य किसी भी राज्य में मेल नर्स कि सरकारी भर्तियों पर रोक नही है क्योकि देश कि आधी आबादी मेल है व आधी आबादी फीमेल है मेल नर्स भी मध्य प्रदेश शासन से मान्यता प्राप्त नर्सिग कॉलेजो व नर्सिग स्कूल से पढाई करने बावजूद उनके साथ अन्या किया जा रहा है संगठन की मांगें
निम्न है।
1.लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत आने वाले सभी सरकारी अस्पतालों सब सेन्टर, पी.एच.सी., सी.एच.सी. जिला अस्पताल, डिस्पेंसरी में मेल नर्स की भर्तियाँ शुरूं की जाये एवं मेल नर्स का कोटा कम से कम 40% रखा जावें।
2.चिकित्सा शिक्षा विभाग के अंतर्गत आने वाले सरकारी मेडीकल कॉलेज अस्पतालों में मेलनर्स की भर्तियाँ शुरू की जाये एवं मेल नर्स का कोटा कम से कम 40% रखा जाये।
3.आर्ट्स, मैथ्य इत्यादि से जी.एन.एम. नर्सिंग करने वाले मेल व फीमेल अभ्यार्थियों को भी सरकारी क्षेत्र की स्वास्थ्य विभाग एवं चिकित्सा षिक्षा विभाग की नौकरियों में शामिल किया जाये ।
4. सरकारी एवं प्राइवेट नर्सिंग कॉलेजों एवं नर्सिंग स्कूलों के अभ्यर्थियों के लिये स्वास्थ्य विभाग व चिकित्सा षिक्षा विभाग से सरकारी स्टाफ नर्स की नौकरियों के लिये एक समान नियम बनाये जायें  5.नेषनल हेल्थ मिषन मध्यप्रदेष (NHM) के अंतर्गत निकलने वाली स्टाफ नर्स की समस्त  भर्तियों में मेल नर्स को शामिल किया जावे एवं मेल नर्स का कोटा कम से कम 40% रखा जावें ।
6.इन सभी मुद्दों को पूरा करने के बाद ही स्टॉफ नर्स की सरकारी भर्तियाँ निकाली जाये।
अगर संगठन की मांगों पर जल्द ही उचित कार्यवाही नही की गई तो संगठन द्वारा मध्य प्रदेश के सभी जिलों सहित राजधानी भोपाल में भूख हडताल आंदोलन प्रदर्शन करने के साथ साथ स्वास्थ्य मंत्री निवास, चिकित्सा शिक्षा मंत्री निवास, मुख्य मंत्री
निवास का घेराव करने के साथ ही आगामी विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा घेराव किया जाएगा।.           
   गोपाल पाराशर
प्रवीण सिंह राजपूत        
प्रदेश अध्यक्ष 
नर्सिंग छात्र संगठन ,मध्यप्रदेश