ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय, शोध नवोन्मेष एवं विस्तार की कार्यशाला का आयोजन 
September 29, 2019 • Avi Dubey



मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय द्वारा शोघ नवोन्मेष एवं विस्तार पर जो कि एनएसीसी का तृतीय महत्वपूर्ण बिन्दु है पर कार्यशाला आयोजित कि गई । जिसमें मध्यप्रदेश के समस्त शासकीय एवं नीजि विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि संयुक्त हुए । कार्यक्रम में मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. एन.के.तिवारी ने बताया कि एनएसीसी के लिए जो सात बिन्दु निर्धारित किये गये हैें उनमें यह सबसे महत्वपूर्ण है अतः इस पर विशेष ध्यान देना आवश्यक है । उन्होंने विश्वविद्यालयो से आव्हान किया कि आपस में संसाधन का आदान प्रदान एवं संयुक्तात्मक रवैये के कार्य करें जिससे मध्यप्रदेश शिक्षा के क्षैत्र में प्रथम स्थान प्राप्त कर सकें । उन्होने विश्वविद्यालय प्रंबधन से निवेदन किया कि सभी विश्वविद्यालय शोध एवं अंनुसंधान हेतु पृथक बजट का प्रावधान करें । बरकत्तुलाह विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. आर.जे.राव ने मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय को साधुवाद देते हुए कहा कि यह विश्वविद्यालय नई है किन्तु उच्च गुणवत्ता हेतु प्रतिबद्ध है  यह कार्यशाला उसका प्रमाण है उन्होंने ने कहा कि एनएसीसी एक माध्यम है कि जिसके द्वारा हम शिक्षा की गुणवत्ता में बढ़ोत्तरी कर सकते हैं। इस अवसर पटेल ग्रुप के कार्यकारी संचालक  श्री दिनेश पटेल जी भी उपस्थित थे । कार्यक्रम के द्वितीय सत्र में डाॅ. विनय श्रीवास्तव एवं डाॅ.  नीरज गौर ने विस्तार से बिन्दु तीन के बारे में प्रतिभागीयों को जानकारी दी । धन्यवाद प्रस्ताव डाॅ.शैलेश जैन कुलसचिव मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय  ने दिया । कार्यक्रम का सफल संचालन डाॅ. रजनीश कर्ण अधिष्ठाता शोध एवं नवोन्मेष ने किया ।
मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय, भोपाल में चार दिवसीय पर्सनालिटी डेवलपमेंट पर प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन गिया गया है। प्रशिक्षण देने के लिये आये एक्सर्पट श्री यश चौहान, सुश्री इंदू लाला एवं श्री मयंक गुप्ता ने छात्रों को पर्सनालिटी डेवलपमेंट के टिप्स देते हुए बताया कि आपको अपने ऊपर विश्वास रखना बहुत जरूरी है। और उन्होंने छात्रों एवं छात्राओं को अपना व्यक्तित्व विकास करने के लिये साक्षात्कार, ग्रूप डिस्कशन, शिष्टाचार, शारीरिक हाव-भाव, ग्रूमिंग, ई-मेल शिष्टाचार, प्रस्तुति कौशल, पब्लिक स्पीकींग, स्वोट अनालिसिस, आर्गनाईजेशन स्ट्रकचर, आईस ब्रेकिंग, एक्सपर्टषेन सेटिंगस, इंग्लिस स्पीकींग, कम्यूनिकेशन स्किलस, ड्रेसिंग सेन्स को सुधार कर किसी के समक्ष किस तरह से प्रस्तुत करना है, यह सब इस कार्यशाला में प्रशिक्षण दिया गया। कार्यशाला के दौरान छात्रों ने भी एक्सर्पट से कई प्रकार के प्रश्न किये और अपनी जिज्ञासाओं को शांत किया। इसी दौरान मध्यांचल प्रोफेशनल विष्वविद्यालय के कुलपति डाॅ॰ एन.के. तिवारी ने छात्रों से फीडबेक भी लिये छात्रों ने कार्यशाला के प्रति उत्साह दिखाया। प्रोफेसर सौरभ मंडलोई हैड टी एन पी ने छात्रों को सही दिशा में आगे बढ़ने के लिये प्रेरित किया। मध्यांचल प्रोफेशनल विष्वविद्यालय के प्रति कुलाधिपति डाॅ॰ अजीत सिंह पटेल ने कहा कि इस तरह की कार्यशाला नियमित रूप से होते रहने से छात्रों एवं छात्राओं को आगे बढ़ने के लिये प्रेरणा मिलती है।