ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय से पुस्तक यात्रा का भव्य शुभारंभ
September 8, 2019 • Avi Dubey

रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय से पुस्तक यात्रा का भव्य शुभारंभ पुस्तकों की उपयोगिता बनाए रखने की विष्वविद्यालय की अनूठी पहल : रजत कपूर भोपाल। रबीन्द्रनाथ टैगोर विष्वविद्यालय के टैगोर विश्वकला एवम् संस्कृति केन्द्र तथा वनमाली सृजन पीठ की पहल पर आज शनिवार को विषाल पुस्तक यात्रा का भव्य शुभारंभ सिने अभिनेता रजत कपूर, कुलाधिपति श्री सतोष चौबे, श्रीमती विनीता चौबे, कलपति प्रो. ए.के. ग्वाल, कलसचिव डॉ. विजय सिंह, आईसेक्ट के निदेषक श्री सिद्धार्थ चतवेर्दी, सुश्री पल्लवी राव चतुर्वेदी, सुश्री अदिति चतुर्वेदी के करकमलों से हुआ। 16 दिवसीय यह पुस्तक यात्रा भोपाल से प्रारंभ होकर सीहोर, देवास, उज्जैन, रतलाम, इंदौर, शाजापुर, आगर, राजगढ़ और विदिषा जिलों में 50 से अधिक रेगी। जिसमें किताबों की महत्ता का संदेष लोगों को दिया जाएगा। पुस्तक यात्रा के लिये ज्ञान विज्ञान तथा अन्य उपयोगी साहित्यिक किताबों आदि से सुसज्जित वाहन है। जो पुस्तक प्रेमियों के साथ रैली के शक्ल में विभिन्न गांवों और कस्बों से गुजरेगापुस्तक यात्रा के वाहन में सौ से अधिक किताबें जिनमें प्रेमचंद की बड़े भाई साहब, जुलूस, पूस की रात, रबीन्द्रनाथ टैगोर की काबुली वाला, जयषंकर परसाई की मधुआ, वनमाली जी की नौकर और पराया धन, संतोष शुक्ला की पक्षियों को जाने सहित डॉ. विक्रम साराभाई प्रसिद्ध वैज्ञानिक, मेघनाद साहा, होमी जहांगीर भाभा सहित सौ से अधिक किताबें और 50 से अधिक हिन्दी में विज्ञान की लोकप्रिय किताबें शामिल हैंपुस्तक यात्रा के दौरान दानदाताओं से पुस्तक संग्रहण का कार्य भी किया जायेगा। संग्रहित पुस्तकें जरुरतमंद षिक्षण संस्थान को भेंट की जायेगी। कल प्रातः 11 बजे पुस्तक यात्रा भोपाल में हिन्दी भवन में रहेगी। इस अवसर पर विष्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री संतोष चौबे ने कहा कि पुस्तकें हमारी मित्र और पथ प्रदर्षक हैं तथा जब भी हम किसी उलझन में होते हैं तो हमें रास्ता दिखाने का काम पुस्तकें ही करती हैं। यह चिंता का विषय है कि पुस्तकों के स्थान पर दूसरे संचार माध्यमों को प्राथमिकता दी जा रही है लेकिन फिर भी पुस्तकों की उपयोगिता बनी रहेगी। छोटे शहरों में पुस्तकों को लेकर चेतना जागृत करने की आवष्यकता है। इसी उद्देष्य से पुस्तक यात्रा निकल रही है। इससे पूर्व आयोजित संवाद कार्यक्रम में श्री रजत कपूर से आईसेक्ट के निदेषक श्री सिद्धार्थ चतुर्वेदी ने चर्चा की। इस चर्चा के दौरान रजत कपूर ने साहित्य, कला और रंगमंच से जुड़े हुए मुद्दों पर बेबाकी से अपने विचार रखे। रजत कपूर ने विद्यार्थियों को सफलता का मूलमंत्र देते हुए बताया कि अपनी कालिंग को जल्द पहचानें तो सफलता भी जल्दी मिलेगी। इस दौरान विद्यार्थियों के सवालों का जवाब भी दिया। इस मौके पर पुस्तक यात्रा का पोस्टर, आईसेक्ट पब्लिकेषन, रबीन्द्रनाथ टैगोर विष्वविद्यालय का प्रॉसपेक्ट्स तथा आरएनटीयू न्यूज लेटर का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया। इसी दौरान इंट्रा डिपार्टमेंटल प्रतियोगितों के विजेताओं का सम्मान भी किया गया। रजत कपूर ने किताबों और पोस्टर की प्रदर्षनी को देखते हुए विद्यार्थियों को प्रेरित किया कि पढ़ने की गतिविधि को बढ़ाने का काम करें क्योंकि किताबें भी करती हैं बातेंइंटर स्कूल प्रतियोगिताओं के विद्यार्थी भी विषेष रुप से आमंत्रित थे। कार्यक्रम के अंत में विष्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. विजय सिंह ने सभी का आभार व्यक्त कियाइस दौरान शहर के प्रतिष्ठित साहित्यकार, लेखक स्कूल और महाविद्यालयों के षिक्षक उपस्थित थे। जनसंपर्क विभाग रबिन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय मो. 98268-61171, 90397-55242 फोन 0755-2700479