ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
‘ग्लोबल टीचर्स मीट’ का हुआ भव्य शुभारंभ
December 28, 2019 • Avi Dubey

जनसंपर्क मंत्री पी. सी. शर्मा ने दो दिवसीय शिक्षक महासम्मेलन का किया उदघाटन

भोपाल, 28 दिसंबर 2019।  प्रतिवर्ष अनुसार  इस वर्ष भी  दिसम्बर  माह में  होने वाले शिक्षकों के महासमागम का  माननीय  कैबिनेट मंत्री श्री  पी सी शर्मा ने भव्य उद्घाटन किया।  माननीय मंत्री जी ने  सभी उपस्थित शिक्षकों की  भूरी भूरी प्रशंसा करते हुए आयोजन समिति के सदस्यों जिसमें निदान संस्था की संचालक श्री मती कला मोहन, बाल भवन विद्यालय के प्राचार्य राजेश शर्मा एवं शिक्षाविद फादर मारिया स्टीफन सम्मिलित है, की प्रशंसा करते हुए कहा कि विभिन्न बोर्ड से सम्बद्ध, देश के कोने-कोने से विभिन्न स्तर के विद्यालयों और उनके भी अनेकानेक विषयों के शिक्षकों को छुट्टियों में एक जगह एकत्रित कर उनको सुनना और समझना और समझाना ये साधारण व्यक्तित्व के लिए कर पाना संभव नहीं है।  उन्होंने  सभी शिक्षाविद वक्ताओं को शुभकामनाएं दी एवं शिक्षकों को दो दिवसीय शिक्षण प्रशिक्षण के लिए  मंगलकामनाये दी । 

इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलित कर किया गया। अपने स्वागत भाषण में मेजबान विद्यालय पीपुल्स पब्लिक स्कूल की प्राचार्य  प्रीती सिंह ने माननीय मंत्री जी, शिक्षाविदों एवं समस्त शिक्षक शिक्षिकाओं का दो दिवसीय ग्लोबल टीचर्स मीट में स्वागत करते हुए कहा कि पीपुल्स विद्यालय का सौभाग्य है कि उन्हें इस भव्य  आयोजन की मेजबानी करने का अवसर  मिला। दो दिवसीय ग्लोबल शिक्षक मीट का  शुभारंभ अंतर्राष्ट्रीय अवार्ड विजेता  और इंटरनेशनल प्रिन्सिपल नेटवर्क के संस्थापक क्विज़ मास्टर  गौरव यादव ने किया।  उन्होंने शिक्षकों के साथ  सात स्वर्णिम नियम साझा किये  जो वर्तमान छात्र पीढी को  शिक्षित प्रशिक्षित करने हेतु  सहायक हो सके । ग्लोबल शिक्षक मीट में  पधारे सभी शिक्षक शिक्षिकाओं के रहने खाने की व्यवस्था,  व्यवस्थापकों द्वारा की गई है। 

 दोपहर के भोजन के पश्चात आर्किड संस्था दिल्ली से पधारी मैडम नेहा गर्ग ने विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को समझने और उनकी  किस तरह से सहायता की जाए इस विषय पर  चर्चा की । अंतर्राष्ट्रीय शिक्षाविद  सी राधाकृष्णन ने  विघटनकारी शिक्षण पर सभी शिक्षकों  से चर्चा की।  दो दिवसीय कार्यक्रम के प्रथम दिन  आगन्तुक शिक्षकों के लिए रंगारंग सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया जिसमें  शिक्षक  शिक्षिकाओं  ने अपनी नृत्य,  गायन एवं नाट्य  प्रतिभा का मंचन किया।