ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
बैंकों में 8 जनवरी को राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल
January 7, 2020 • Avi Dubey

हड़ताल की पूर्व संध्या पर केन्द्र सरकार की श्रम विरोधी नीतियों के खिलाफ मजदूर एवं कर्मचारियों का मशाल प्रदर्शन

ऑल इंडिया बैंक एम्प्लाईज एसोसिएशन (AIBEA), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (AIBOA), बैंक एम्प्लाईज फेडरेशन ऑफ इंडिया (BEFI), इंडियन नैशनल बैंक एम्प्लाईज फेडरेशन (INBEF), इंडियन नेशनल बैंक ऑफिसर्स काँग्रेस (INBOC) के आह्वान पर केन्द्र सरकार की ”श्रम विरोधी नीतियाँ एवं जन-विरोधी बैंकिंग सुधारों के खिलाफ“, सार्वजनिक, निजी, विदेशी, क्षेत्रीय ग्रामीण, भारतीय रिजर्व बैंक एवं सहकारी क्षेत्र के बैंकों के करीब 6 लाख बैंक-कर्मी 08 जनवरी 2020 की राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल में भाग लेंगे। हड़ताली बैंक कर्मियों के संगठनों ने केन्द्रीय श्रमिक संगठनों के 12 सूत्रीय माँग-पत्र का समर्थन करते हुए देशभर के बैंक कर्मियों को आह्वान किया है कि वे पच्चीस करोड़ कामगारों द्वारा आयोजित 08 जनवरी 2020 की आम हड़ताल में भाग लेकर इसे सफल बनावें। 12 सूत्रीय माँगें निम्नानुसार हैं:-
(1) आवश्यक वस्तुओं की मूल्य वृद्धि को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी उपाय करें, सार्वजनिक वितरण प्रणाली को कमजोर न करें, कमोडिटी बाजार में सट्टेबाजी पर प्रतिबंध लगायें, (2) हमारे युवाओं के लिए अधिक रोजगार पैदा करें तथा सभी क्षेत्रों और उद्योगों में चरणबद्ध भर्तियों के माध्यम से बेरोजगारी को कम करने के लिए प्रभावी उपाय करें, (3) श्रम कानूनों के उल्लंघन के लिए नियोक्ताओं पर कठोर कार्रवाई की जाये (4) सभी कामगारों और कर्मचारियों के लिए सामाजिक सुरक्षा प्रदान करें, (5) न्यूनतम वेतन रू. 21,000/- से कम न हो, (6) सभी कामगारों और कर्मचारियों के लिए सुनिश्चित पेंशन दी जावे, एनपीएस समाप्त करें, पुरानी पेन्शन बहाल की जावे, (7) समान कार्य के लिए स्थाई मजदूरों की भाँति ठेका मजदूरों के लिए भी समान वेतन और लाभ दिये जावें, (8) केन्द्र और राज्य की सार्वजनिक क्षेत्र की इकाईओं/उपक्रमों के विनिवेश पर रोक लगाई जावे, (9) बोनस, भविष्य निधि के भुगतान और पात्रता पर से सभी ऊपरी सीमाओं को हटाया जावे, (10) 45 दिनों की अवधि के भीतर श्रम संगठनों का पंजीकरण सुनिचित किया जावे तथा आईएलओ कन्वेंशन नं.-87 और 98 का तत्काल अनुमोदन किया जावे, (11) श्रम कानूनों में मजदूर विरोधी संशोधनों को वापिस लिया जावे (12) रक्षा, बीमा, रेल्वे तथा अन्य मुख्य क्षेत्रों में अंधाधुंध एफ.डी.आई. पर रोक लगाई जावे।
इन मुद्दों के अलावा बैंक कर्मियों की यह हड़ताल- (1) जन विरोधी बैंकिंग सुधारों एवं बैंकों के अनुचित विलय के विरोध में (2)    कार्पोरेट ऋण चूककर्ताओ के ऋणों की वसूली हेतु कठोर कदम उठाये जाने की माँग के लिये (3) वेतन पुनरीक्षण एवं सम्बन्धित मुद्दों को शीघ्र कराने के लिए (4) बैंकों में समुचित भर्ती के लिए, है
हड़ताल की पूर्व संध्या पर राजधानी की विभिन्न बैंकों के सैकड़ों बैंक-कर्मी आज शाम 6ः00 बजे यादगार-ए-शाहजहांनी पार्क भोपाल में एकत्रित हुए, उन्होंने विभिन्न मजदूर एवं कर्मचारियों के साथ अपनी माँगों के समर्थन में जोरदार नारेबाजी कर इंकलाबी मशाल प्रदर्शन किया। मशाल प्रदर्शन में उपस्थित बैंक कर्मचारी-अधिकारी नेतागण साथी वी.के. शर्मा, डी.के. पोद्दार, मो. नज़ीर कुरैशी, संजय कुदेशिया, संतोष जैन, वी.एस. नेगी, जे.पी. झंवर, एम.जी. शिन्दे, गुणशेखरन, बाबूलाल राठौर, जे.पी. दुबे, एम.एस. जयशंकर, प्रभात खरे, आर.के. हीरा, देवेन्द्र खरे, सौरभ पाराशर, अशोक पंचोली, सी.एस. शर्मा, किशन खैराजानी, जे.डी. मलिक, सत्येन्द्र चौरसिया, योगेश मनूजा, अमिताभ चटर्जी, मंगेश दवांदे, सतीश चौबे, विशाल धमेजा, वैभव गुप्ता, जी.बी. अणेकर, महेश जिज्ञासी, बी.सी. पौणिकर, पंकज चौबे आदि ने बैंक कर्मचारी-अधिकारियों को आह्वान किया है, वे 25 करोड़ कामगारों की 8 जनवरी 2020 की राष्ट्रयव्यापी आम हड़ताल में भाग लेकर इसे सफल बनायें।
राजधानी भोपाल में हड़ताली संगठनों के सैकड़ों बैंक कर्मचारी-अधिकारी 8 जनवरी 2020, बुधवार को सुबह 10ः30 बजे ओरियेन्टल बैंक ऑफ कॉमर्स, रीजनल ऑफिस प्रेस काम्पलेक्स, होशंगाबाद रोड, भोपाल के सामने एकत्रित होकर प्रदर्शन, रैली एवं सभा का आयोजन करेंगे।
गुणशेखरन
प्रवक्ता