ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
भोपाल इंटरनेषनल ग्रेंड मास्टर शतरंज प्रतियोगिता-2019 में रोमांचक हुआ मुकाबला
December 27, 2019 • Avi Dubey

कौन बनेगा विजेता कहना मुश्किल,  भारत के वेंकटेश पर होगी नजरें

भोपाल, 27/12/2019। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में चल रहे मध्य भारत के सबसे बड़े मुकाबले “भोपाल इंटरनेशनल ग्रांड मास्टर शतरंज 2019 “ का विजेता कौन बनेगा यह जानने के लिए अंतिम और निर्णायक राउंड का इंतजार बचा है जो 28 दिसंबर को सुबह 10 से खेला जाएगा । उज्बेकिस्तान के याकूबबोएव नोदिरबेक ,भारत के एम आर वेंकटेश ,हंगरी के चेबे अटिला और वियतनाम के नुज्ञेन वान हुय सभी 7.5 अंको पर है और ऐसे में कौन इस बार भोपाल इंटरनेशनल जीतेगा कहना मुश्किल है ।

आज खेले गए गए मुकाबले के बाद खिताब कौन जीतेगा यह कहना बहुत मुश्किल हो गया है । आज पहले बोर्ड पर सबसे आगे चल रहे टॉप सीड उज्बेकिस्तान के याकूबबोएव नोदिरबेक को कोलम्बिया के ग्रांड मास्टर रिओस कृस्टियन नें ड्रॉ पर रोकते हुए खिताब का रोमांच कायम रखा है । क्लोस कॅटलन ओपनिंग में हुए इस मुकाबले में नोदिरबेक नें बहुत जोर लगाया पर रिओस नें शानदार खेल खेलते हुए खेल को विरोधी रंग  के ऊंट के एंडगेम की ओर मोड दिया और खेल 62 चालों के संघर्ष के बाद ड्रॉ रहा ।

इस ड्रॉ का फायदा मिला दूसरे टेबल पर खेल रहे हंगरी के चेबे अटिला को जिन्होने खिताब के प्रबल दावेदार उक्रेन के स्टानीस्लाव बोगदानोविच को पराजित करते हुए सभी को चौंका दिया । पिर्क ओपनिंग के मॉडर्न वेरीएसन में चेबे नें सफेद मोहरो से खेलते हुए स्टानीस्लाव को कोई मौका ना देते हुए 38 चालों में जीत दर्ज करते हुए सयुंक्त बढ़त में स्थान बना लिया।
तीसरे बोर्ड पर भारत के एम आर वेंकटेश नें आखिरकार प्रतियोगिता में अब तक का सबसे बेहतरीन मुकाबला खेलते हुए रूस के अनुभवी ग्रांड मास्टर मकसीम लुगोव्स्कोय को मात देते हुए सयुंक्त बढ़त में स्थान तो बनाया है और अब उनके खिताब जीतने के अच्छे आसार भी है । आज के राउंड में फ्रेंच ओपनिंग में वेंकटेश नें सफेद मोहरो से खेलते हुए मध्य खेल में 2 प्यादो की बढ़त बना ली और आसानी से 37 चालों में जीत दर्ज की ।

चौंथा मुकाबला जीते चौंथी टेबल पर वियतनाम के नुज्ञेन वान हुय नें जिन्होने उज्बेकिस्तान के ओर्टिक निगमटोव को मात देते हुए सयुंक्त बढ़त में स्थान बनाया । काले मोहरो से खेलते हुए कारो कान अडवांस वेरीएसन में उन्होने 42 चालों में मुकाबला अपने नाम किया ।

अन्य महत्वपूर्ण मुकाबलो में परिणाम कुछ यूं रहे दृ पांचवे बोर्ड पर इन्डोनेशिया के तहर योसेफ नें स्लोवाकिया के मानिक मिकुलस से ड्रॉ खेला ,छठे बोर्ड पर अजरबैजान के अजर मिजोएव नें भारत के अनादकत कर्तव्य को पराजित किया तो सातवे बोर्ड पर बेहद संघर्ष के बाद उक्रेन के एडम तुखेव नें भारत के अनुभवी खिलाड़ी अनूप देशमुख को मात दी ,आठवे बोर्ड पर रूस के डेनिस एराश्चेंकोव नें भारत के रथनीश आर से ड्रॉ खेला तो नौवे बोर्ड पर भारत के उत्कल रंजन साहू नें हमवतन सुमेर अर्श को मात दी , दसवें बोर्ड पर भारत के शरण राव नें हमवतन प्रणव वी को पराजित किया ।

कल के मुकाबले सबसे महत्वपूर्ण होंगे जब पहले बोर्ड पर भारत के एम आर वेंकटेश उजबेकस्तान के नोदिरबेक से तो वियतनाम के नुज्ञेन वान हुय हंगरी के चेबे अटिला से मुकाबला खेलेंगे और बहुत संभव है की कोई नया विजेता इनमें से ही बने , हालांकि दूसरे स्थान पर 8 खिलाड़ी 7 अंको पर है और उपर दोनों मुकाबले ड्रॉ होने की स्थिति में परिणाम किसी के पक्ष में भी जा सकता है ।

अंतिम राउंड के बाद दोपहर 3 बजे से पुरूस्कार वितरण कार्यक्रम होगा ।

(कपिल सक्सेना)
सचिव