ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
बॉर्न-टू-ब्लॉसम की प्रस्तुति से हुआ सागर पब्लिक स्कूल रोहित नगर के वार्षिकोत्सव का समापन 
December 1, 2019 • Avi Dubey

सागर पब्लिक स्कूल, रोहित नगर का 6वां वार्षिकोत्सव


भोपाल, 30 नवंबर, 2019। सागर पब्लिक स्कूल, रोहित नगर मे चल रहे दो दिवसीय वार्षिकोत्सव  का समापन  सीनियर विंग की बेहद रचनात्मक प्रस्तुतियों से हुआ। दो दिवसीय वार्षिकोत्सव मे जूनियर और सीनियर विंग के 1350़ सागराईट्स शामिल हुये जिन्होने अपनी कल्पना व रचनात्मकता से मानवता के विविध गुणो को प्रसारित कर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया और स्कूल के सिद्धांत लिविंग द वरच्यु से जोड़ा।    
सीनियर विंग का वार्षिकोत्सव  बॉर्न-टू-ब्लॉसम की थीम पर आधारित रहा जबकि जूनियर विंग की थीम मेघ धनुष ः कलर्स ऑफ लाईफ रही । सीनियर विंग के वार्षिकोत्सव के मुख्य अतिथि डॉ प्रभुराम चौधरी माननीय स्कूल शिक्षा मंत्री मध्य प्रदेश और श्री आशीष कौल सीईओ फोल्कलोर एंटरटेनमेंट गेस्ट ऑफ ऑनर रहे जिन्होंने दीप प्रज्ज्वलित कर वार्षिकोत्सव का शुभारंभ किया ।
 
सीनियर विंग वार्षिकोत्सव बॉर्न-टू-ब्लॉसम में सागराईट्स ने आकर्षक परिधानो, गीत-संगीत, नृत्य नाटिका एवं अभिनय प्रतिभा से मानव जीवन की अवस्थाओं का चित्रण किया और उनसे संबंधित जीवन के सदगुणों को प्रस्तुत किया ।  सागराईट्स ने जन्म व शिशु अवस्था को आध्यात्मिक ऊर्जा और बाल अवस्था को सीखने की सहक्रियाओं व पोषण को परामर्श व उबंटू की प्रस्तुति में दर्शाया । उन्होंने किशोरावस्था को पहेली से बताया और सही मार्गदर्शन, सकारात्मक सोच और केंद्रित दृष्टिकोण के गुणों के जोड़कर जीवन को बदलने का पथ पवित्र नर्मदा नदी क़े संदर्भ से दर्शाया ।  सागराईट्स ने युवा अवस्था को आक्रामकता, ऊर्जा, क्रोध और जोश को बहादुरी, साहस व बलिदान के गुणों को शौर्यगाथा की प्रस्तुति में रानी दुर्गावती और महारानी लक्ष्मी बाई के प्रेरणादायक जीवन की सीख से प्रस्तुत किया। सागराईट्स ने प्रतुपकार में परिपक्वता, ईमानदारी, समृद्धि के गुणों को  प्रौढ़ व मध्य अवस्था मे तकनीकी विकास, प्रकृति को बचाने हेतु प्रयास, समाज को वापस देने के लिए कृतज्ञता व आत्म.साक्षात्कार के दृष्टिकोण से सद्गुणों का विकास करना व समाज मे क्षमताओ को विकसित करने के रूप मे दर्शाया। उन्होने वृद्धावस्था को अनुभव, ज्ञान, कौशल, विशेषज्ञता आदि को जीवन की लंबी यात्रा के रूप में दर्शाया है मोक्ष प्राप्त करने के लिए समस्त सदगुणों को मनुष्यो के कर्म से जोडकर विश्व कल्याण का संदेश दिया ।
  
सागर ग्रुप के चेयरमैंन श्री सुधीर कुमार अग्रवाल, डॉ जयश्री कंवर डायरेक्टर सागर पब्लिक स्कूल  और प्रिंसिपल डॉ. मधुबाला चौहान द्वारा मुख्य अतिथि व गेस्ट ऑफ ऑनर को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया । छात्रों की प्रशंसा और उन्हें प्रोत्साहित करते हुये अभिभावकों को अपने सम्बोधन मे माननीय स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि मुझे स्कूल के वार्षिक दिवस समारोह मे भाग लेनी की बेह्द खुशी है । मैं स्कूल द्वारा संचालित समग्र शिक्षा व छात्रों के विकास व सदगुणो को स्थापित करने के लिये प्रिंसिपल और शिक्षकों को बधाई देता हूं। श्री कौल ने अपने संदेश में कहा, मैं सागर पब्लिक स्कूल के वार्षिक समारोह मे भाग लेकर गौरान्वित महसूस कर रहा हूँ। मैं स्कूल के प्रत्येक छात्र को मानव जीवन की अनोखी लिपि को सद्गुणों द्वारा ज्ञान साझा करने के लिये बधाई देता हूं। छात्रो की प्रस्तुति ने यहां उपस्थित सभी जण-गण को जोड़ा है और मानव जाति की सेवा के लिए हमे मार्ग दिखाया है । मैं छात्रों, प्रिंसिपल और स्कूल की टीचर्स को उनके अनूठे प्रयासों के लिए उनकी सराहना करता हूं।अपने प्रेरणादायक संबोधन में सागर ग्रुप के चेयरमैन श्री सुधीर कुमार अग्रवाल ने कहा, हमारे स्कूल नैतिक शिक्षा पर केंद्रित हैं और हम हर दिन इस प्रणाली का विस्तार करना जारी रखेंगे और राष्ट्र निर्माण के लिये छात्रों को नए अवसर प्रदान करते रहेंगे।
इस अवसर पर प्रिंसिपल डॉ मधुबाला चौहान ने स्कूल की वार्षिक रिपोर्ट साझा की और अभिभावकों के समक्ष स्कूल की उपलब्धियों को सूचीबद्ध किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा, सागर पब्लिक स्कूल में हम सागराईट्स की प्रतिभाओं को गुणों व नैतिक मूल्यों से पोषण करते हैं। सागराईट्स ने आज विभिन्न गुणो से स्वयं का प्रतिनिधित्व किया है और विश्व का नेतृत्व करने के लिए गुण, ज्ञान और कौशल से हमें जीवन में उत्कृष्टता और नेतृत्व करने का संदेश दिया है। एक पुरस्कार समारोह में मुख्य अतिथि ने मेधावी छात्रों को सम्मानित किया।  उन्होने  सांस्कृतिक, अकादमिक और अनुशासन में स्कूल के सर्वश्रेष्ठ हाउस को उत्कृष्टता के लिये ट्रॉफी प्रदान की व बेस्ट बॉय और बेस्ट गर्ल व अन्य टाईट्ल्स से सागराईट्स को नवाज़ा । वार्षिकोत्सव का समापन सुश्री आरती खिल्लन, वाईस प्रिंसिपल के धन्यवाद ज्ञापन व राष्ट्र गान से संपन्न हुआ।