ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
एल आई सी अक्टूबर माह में पालिसी संख्या में 78% मार्केट हिस्सेदारी कर जीवन बीमा उद्योग में अग्रणी - प्रबंध निदेशक श्री टी.सी.सुशील कुमार
November 7, 2019 • Avi Dubey

इंदौर, 07 नवंबर,2019. भारतीय जीवन बीमा निगम के प्रबंध निदेशक श्री टी.सी.सुशीलकुमार  की गरिमामयी उपस्थिती में माण्डू में मध्य क्षेत्र के शाखा विपणन अधिकारियों का  सम्मान समारोह सम्पन्न हुआ | अपने उद्बोधन में प्रबंध निदेशक श्री टी. सुशील कुमार ने सर्वप्रथम सभी विजेता शाखा विपणन अधिकारियों को  अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन के द्वारा इस सम्मेलन में आकर सम्मानित होने पर हार्दिक बधाई दी | उन्होंने अभिकर्ताओं का आह्वान किया कि वे मार्केट में अधिकाधिक मूवमेंट करें | इससे वे नए-नए बीमा योग्य व्यक्तियों को बीमा सुरक्षा देने में सफल होंगे जो कि उनकी अधिकाधिक कमीशन आय अर्जित करने का भी स्त्रोत बनेगा | इस मौके पर श्री सुशील  कुमार ने भारतीय जीवन बीमा निगम की अखिल भारतीय स्तर पर की जा रही नूतन पहलों को बताते हुए जानकारी दी कि निगम वर्तमान में 31 लाख करोड़ की परिसंपत्तियों के साथ निरंतर अपने कार्यक्षेत्र को और अधिक विस्तार देने के लिए प्रयासशील है | उन्होंने कहा कि निगम प्राथमिक रूप से जनमानस को जोखिम सुरक्षा मुहैया कराने तथा उन्हें देय प्रीमियम पर समुचित रूप से अपेक्षित प्रीमियम आमदनी को भी सुनिश्चित करता है | निगम के द्वारा इक्विटी में 14% निवेश किया गया है जिसका बाजार मूल्य बढ़कर 20% हो चुका है | गत वर्ष निगम ने ईक्विटी मार्केट में निवेश करने के फलस्वरूप रुपये 23 हजार करोड़ का लाभ कमाया था तथा इस वित्तीय वर्ष में निगम ने अब तक रुपये 11500 करोड़ का लाभ अर्जित किया है |  निगम के द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों के बाण्ड्स की तुलना में कारपोरेट बाण्ड्स में अधिक निवेश किया हुआ है | निगम दैनंदिन मार्केट गतिरोध से प्रभावित नहीं होता क्योंकि निगम पर्याप्त खोजबीन करने के बाद ही 10-15 वर्षों की दीर्घावधि के लिए निवेश करता है एवं इसकी समीक्षा भी त्रैमासिक रूप से करता रहता है | निजी क्षेत्रों की AA एवं इससे अधिक बेहतर श्रेणी की कंपनियों में ही निवेश करने हेतु निगम की स्टेण्डर्ड प्रचालन प्रक्रिया है | अभी निगम का फोकस अधिकाधिक लोगों को बीमित करने पर है ताकि अधिकाधिक जनसामान्य इससे लाभान्वित हों | हाल ही में निगम के द्वारा जीवन अमर जैसी अवधि बीमा योजना एवं टेक टर्म आनलाईन बीमा योजना जारी की गई हैं जो कि अन्य उपलब्ध योजनाओं की तुलना में बहुत ही प्रतिस्पर्धात्मक योजना है  | निगम का बेङ्काश्योरेंस चैनल भी बेहतर नव व्यवसाय आईडीबीआई बेंक के साथ करते हुए 2.61% के स्थान पर बढ़ते हुए 3.64% भागीदारी पर पहुँच चुका है | बेंक के द्वारा 720 शाखाओं को उच्च नेटवर्थ वाले ग्राहकों के बीच बीमा पालिसियों की बिक्री करने हेतु चिन्हित किया गया है | बहुत ही कम समय में यह बेंक 250 करोड़ से अधिक की प्रीमियम हासिल कर सबसे बड़े बेंक भागीदार के रूप में उभर चुका है एवं इस वर्ष बेंक की योजना 2000 करोड़ से अधिक प्रीमियम हासिल करना है | निगम के द्वारा डिजिटल पेमेंट को प्रोत्साहित किया जा रहा है क्योंकि कार्पोरेशन बैंक के ATM के माध्यम से प्रीमियम भुगतान किया जा सकता है तथा शीघ्र ही IDBI भी ऐसी ही सुविधा ग्राहकों के हितार्थ शुरू करने जा रहा है | एलआईसी एकमात्र ऐसी संस्था है जो देश में वर्ष 2000 में किए गए उदारीकरण के बाद से लेकर आज भी जीवन बीमा उद्योग में सभी बीमाकर्ताओं में पालिसी मानक में  78% की मार्केट हिस्सेदारी के साथ सिरमौर है तथा अपना वर्चस्व बनाए हुए है | LIC ने अपने जोखिम सुरक्षा मानक संबंधी मार्केट शेयर में इस वित्तीय वर्ष की सितंबर को समाप्त छमाही में अपने प्रतिद्वंदीयों को पीछे छोडते हुए 6% की जबर्दस्त उछाल पाने में कामयाबी हासिल की है| अकेले सितंबर माह में निगम ने 18% की वृद्धि हासिल की तथा पहली छ्माही में 42% की वृद्धि दर्ज की है जिसकी तुलना में सभी निजी बीमा कंपनियों ने मिलकर सितंबर माह में कुल 15% की ही वृद्धि दर्ज की एवं पहले छमाही में 35% की वृद्धि दर्शा पायी | श्री टी.सी. सुशील कुमार ने कहा कि निगम अक्टूबर माह में भी पालिसी मानक में ही 6% की पुन: बढ़ोत्तरी करते हुए अपनी हिस्सेदारी को 78% तक ले जा चुका है | उन्होंने इन सभी उपलब्धियों के लिए सभी बीमाधारकों, कर्मचारियों एवं विकासवाहिनी व अभिकर्ता साथियों को बधाई देते हुए पुन: नए कीर्तिमान स्थापित करने के साथ ही ग्राहकों को सर्वोत्तम बीमा सेवा मुहैया कराने का आहवान किया | 

इस अवसर पर मध्य क्षेत्र के क्षेत्रीय प्रबन्धक श्री प्रकाश चंद ने अपने सम्बोधन में कहा कि मध्य क्षेत्र ने 654854 पालिसी कर तथा 1370 करोड़ की प्रथम प्रीमियम आय अर्जित किया है तथा मध्य क्षेत्र ने अपने अभिकर्ता बल में 7500 अभिकर्ताओं को एल आई सी अभिकरण  के व्यवसाय से जोड़कर उन्हें रोजगार के अवसर भी प्रदान किए हैं | इस अवसर पर उन्होंने उपस्थित सहभागी शाखा विपणन अधिकारियों को समारोह में आने की पात्रता हासिल करने की बधाई दी तथा मध्य क्षेत्र को अभिकर्ता नियुक्ति की दिशा में एवं उनकी उत्पादकता में वृद्धि करते हुए उन्हें अधिकाधिक सक्रिय कराने की सलाह दी | इसी के साथ उन्होंने सहभागी सभी शाखा विपणन अधिकारियों को आगामी 14 नवंबर तक शत प्रतिशत अभिकर्ताओं की नव व्यवसाय अर्जन में सक्रियता सुनिश्चित कराने का आग्रह किया | इससे वे न केवल अपनी अपनी शाखा की अपितु, मण्डल की व्यावसायिक उपलब्धियों में भी शाखा की और से बेहतर योगदान देने में सफल होंगे | 

इस अवसर पर निगम के मध्य क्षेत्र के प्रादेशिक प्रबंधक (विपणन) श्री अजय कुमार, सचिव (विपणन) श्री राजीव चन्द्र सेठ, इंदौर मण्डल के वरिष्ठ मण्डल प्रबन्धक श्री एस.बी.मिश्रा, विपणन प्रबन्धक श्री राजेश कुमार चौधरी के साथ ही मध्य क्षेत्र के अंतर्गत मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ राज्यों में भिन्न भिन्न स्थानों पर पदस्थ शाखा विपणन अधिकारियों ने भागीदारी की |  

इसके पूर्व सम्मेलन के प्रारम्भ में वरिष्ठ मण्डल प्रबन्धक श्री मिश्रा ने मुख्य अतिथि एवं उपस्थित सहभागियों का स्वागत किया तथा एतिहासिक नगरी माण्डू में पहली बार प्रबंध निदेशक महोदय की उपस्थिति में आयोजित हो रहे सम्मान समारोह में आए सभी विजेता शाखा विपणन अधिकारियों को बधाई दी एवं सहभागियों से मध्य क्षेत्र को आगामी 14 नवंबर के पूर्व ही  अधिकाधिक पालिसियों को पूरित कर, अखिल भारतीय स्तर पर नामांकित कराने का आह्वान किया |

इस मौके पर प्रादेशिक प्रबन्धक (विपणन) श्री अजय कुमार ने मध्य क्षेत्र की नव व्यवसाय से संबद्ध विभिन्न गतिविधियों की समीक्षा की तथा विजेता 130 शाखा विपणन अधिकारियों को प्रबंध निदेशक महोदय के कर कमलों से सम्मानित होने के स्वर्णिम अवसर को भुनाने के लिए अपनी और से बधाई दी | उन्होंने इस अवसर पर सभी शाखा विपणन अधिकारियों को मध्य क्षेत्र के द्वारा व्यावसायिक स्तर पर अपने सभी पाँच मानकों में बजट प्राप्ति कराने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए अपनी अपनी शाखा की भी बजट प्राप्ति हेतु हर संभव योगदान देने की अपील की| 

समारोह का सफलतापूर्वक संचालन सचिव(विपणन) श्री सेठ द्वारा किया गया |

प्रादेशिक प्रबन्धक (निगमित सम्प्रेषण)