ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
महात्मा गॉधी के अथक प्रयासों से राष्ट्रीय  सेवा योजना का शुभारम्भ हुआ ः प्रो आर सी घावरी
December 7, 2019 • Avi Dubey

मंध्यान्चल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय में कार्यशाला का आयोजन 

मंध्याचल प्रोफेशनल विष्वविद्यालय में सी प्रमाण पत्र एन. एस. एस के लिये की गयी कार्यशाला पटेल ग्रुप ऑफ इस्टीट्यूट एवं मध्यांचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय भोपाल में राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी ङॉ. जया शर्मा एग्रीकल्चर विभागाध्यक्ष ने रजिस्ट्रार डॉ. शैलेश जैन के निर्देशन पर  एन एस.एस. इकाई में स्वयंसेवकों के बी प्रमाण पत्र के लिये पटेल ग्रुप के 18 छात्र लिखित परीक्षा में बैठे जिनकी मौखिक परीक्षा डॉ श्री जी सेठ राजनीति विज्ञान विभागगघ्यक्ष सत्य सॉई कॉलेज द्वारा ली गयी साथ ही मध्यांचल प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में सी प्रमाण पत्र के परियोजना कार्य बनाने के लिये कार्यशाला आयोजित की गयी । जिसमें विषय विशेषज्ञ प्रशिक्षित कार्यक्रम अधिकारी प्रो आर.सी. घावरी शासकीय महाविद्यालय चांचाडौ बीनागंज एवं सर्जन सिंह शिल्पकार समाजसेवी व्यख्यान कार्यशाला के लिये उपस्थित हुये । कार्यशाला में प्रो आर. सी घावरी  ने बताया की एनएसएस इकाईयॉं उस गतिविधि का आयोजन कर सकती है जो समुदाय के लिए प्रासंगिक है । समुदाय की जरूरतों के अनुसार गतिविधिय़ां जारी हैं । मुख्य गतिविधियों वालेे क्षेत्रों में शिक्षा और साक्षरता, स्वास्थ्य, परिवार कल्याण और पोषण स्वच्छता पर्यावरण संरक्षण, सामाजिक सेवा कार्यक्रम, महिलाओं की स्थिति में सुधार उन्मुख कार्यक्रम, आपदा  राहत तथा पुनर्वास संबंधी कार्यक्रम, सामाजिक बुराइयों के खिलाफ अभियान डिजिटल भारत, कौशल भारत, योग इत्यादि जैसे प्रमुख कार्यक्रमों के बारे में जागरूकता पैदा करना आदि शामिल है । जैसा कि उल्लेख किया गया है स्वैच्छिक समुदाय सेवा के माध्यम से छात्रों के व्यक्तित्व और चरित्र के विकास के प्राथमिक उद्देश्य के साथ राष्ट्रीय सेवा योजना को शुरू किया गया था । एन.एस.एस का उद्देष्य सेवा के माध्यम से शिक्षा है । एन.एस.एस की वैचारिक उन्मुखता महात्मा गांधी के आदर्शों से प्रेरित है । मंध्याचल प्रोफेशनल विश्वविद्यालय के प्रो चांसलर डॉ. अजीत सिंह पटेल ने सेवा के माध्यम से शिक्षाश् एवं एन.एस.एस की उपयोगिता पर अपने विचार व्यक्त किये  । कार्यशाला में सी.ई.ओ मधु मल्होत्रा, ग्रुप निदेशक डॉ. ज्ञानेन्द्र सिंह एवं  एन.एस.एस ंर्कोडिनेटर डॉ. जी.एस. चौहान उपस्थित थे ।