ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
नयागांव परिवहन चेकपोस्ट का नाम लूट केंद्र करना ज्यादा उचित -नवीन कुमार अग्रवाल 
January 6, 2020 • Avi Dubey
वाहन चालकों को नए वर्ष का लूट का तोहफा 
भले ही अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार नव वर्ष के अगमन पर हम सभी ने एक दूसरे को नव वर्ष की शुभकामनाओं, बधाई देने की परंपरा को अपना कर अपने मित्रों शुभचिंतकों के उज्जवल भविष्य की कामना करने के साथ -साथ नव वर्ष पर एक दूसरे को उपहार देने की भी परंपरा को अंगीकृत किया वही आम आदमी की तरह सरकारों ने भी नव वर्ष पर अपनी जनता को उपहार देने की परंपरा के अनुसार हर वर्ष की तरह केन्द्र की मोदी सरकार ने  देश की जनता को उपहार स्वरुप इस वर्ष पेट्रोल डीजल एवं गैस की कीमतें कुछ दर बढाकर जनता को उपहार दिया तो प्रदेश की मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व बाली सरकार ने भी प्रदेश की सीमाओं पर परिवहन विभाग की स्थापित चौकियों पर से गुजरने वाले वाहन चालकों से की जाने वाली अवैध वसूली की कमाई में इजाफा करने के उद्देश्य से अवैध वसूली की जाने बाली राशि में मामूली वृद्धि कर प्रदेश की जनता पर अप्रत्यक्ष रूप से बोझ डाला लेकिन इस अवैध वसूली में हुए इजाफे से प्रदेश  के खाली खजाने पर कोई प्रभाव  नहीं पडने वाला है। यह राशि उन अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ - साथ इनके द्वारा पोषित निजि लठौतों की तिजोरियां में पंहुचाने वाली है। इस तरह की अवैध बसूली की कमाई की राशि बनाने के पीछे परिवहन चौकियों पर तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों का कहना है कि हालही विभाग द्वारा चौकियों पर पदस्थापना के लिए जिस तरह से बोली लगाई गई इस नई व्यवस्था के चलते सभी कमाई वाली चौकियों पर तैनाती के पहले से कहीं अधिक राशि ज्यादा देकर पदस्थापना हासिल की है? चौकियों पर तैनात अधिकांश अधिकारियों और कर्मचारियों के द्वारा विभाग की कमान लोकायुक्त संगठन से आए आयुक्त व्ही मधुकुमार की पदस्थापना के बाद इस तरह की मंहगी और बोली लगाकर चौकियां पर तैनात होने की चर्चाओं का दौर की शुरुआत होना और नव वर्ष के साथ ही अवैध वसूली की राशि ज्यादा वसूली की घटना अनेकों सवालों को जन्म देते नजर आ रहे हैं? साथ ही विभाग में इस तरह की चर्चाएं लोग चटखारे लेकर करते नजर आ रहे हैं कि यह सभी घटनाएं विभाग में वर्षो से सक्रिय रैकेट की साजिश के चलते नए आयुक्त व्ही मधुकुमार को बदनाम करने के लिए खेला जा रहा है। परिवहन विभाग के प्रभारी मीणा एवं उसके अधीनस्थ कर्मचारी एवं उनके द्वारा पोषित निजी लठेतो द्वारा एक अलग अंदाज में नए वर्ष का स्वागत वाहन चालकों से प्रारम्भ किया गया जिसके उपहार के स्वरूप में 1 जनवरी से बनाये गए संविधान अनुसार लूट की नयी दरे वसूल कर वाहन चालकों का स्वागत नयागाव लूट केंद्र पर किया गया।आप के साथियो अशोक सागर ,नवीन कुमार अग्रवाल ,लविश कनोजिया को  निरंतर   मिल रही शिकायतों पर वाहन चालकों से नीमच से लेकर नयागांव तक सड़क पर  संपर्क कर वाहन चालकों के बयानों की वीडियोग्राफी करने पर स्वतः ही नये वर्ष के उपहार की  सच्चाई सामने आ गई। 
हाँ ,मुझसे लिए 400 रूपये 
में राजस्थान से सामान लेकर महाराष्ट्र जा रहा हूं और हमेशा इसी सड़क मार्ग का उपयोग करता हु कुछ वर्ष पूर्व इस परिवहन चेकपोस्ट  पर होलोग्राम युक्त स्टिकर लगता था जो एक कैलेंडर महीने के लिए वैध होता था उसके बाद यंहा  पर छापामार कारवाही करने पर प्रति ट्रिप  वाहन की टायर संख्या के मान से 300 से 1500 रूपये आने जाने पर लगते थे अभी कुछ दिन पूर्व ही में यंहा से निकला था तो मुझसे 6 टायर के वाहन के 300 रूपये लिए थे लेकिन आज में जैसे ही  यहाँ पहुंचा तो मुझसे 400 रूपये की मांग की गई जब मैंने पूर्व के बात की तो मुझसे अभ्रदता की और मुझसे कहा गया की 1 जनवरी से नयी लिस्ट जारी हो गई है और उसके मान से 400 से लेकर 1800 रूपये टायर संख्या के मान से देना होंगे नहीं तो गाड़ी खड़ी  कर दो /चूँकि मेरी गाड़ी में 6  टायर है इसलिए मुझसे 300 की जगह 400 रूपये लिए गए जिसकी कोई रसीद नहीं दी गई एक पर्ची पर गेट पास की स्लिप दी गई जिसे गेट पर निकलते समय मुझसे ले ली गई उस स्लिप पर कोई भी शासन का मोनो नहीं होता वो केवल अवैध लूट का आपसी संकेत होता है। 
भगवाना राम मनरूपाराम नागोर ,पीड़ित वाहन चालक 
 
मुझसे लिए 1800 रूपये 
मेरी गाड़ी में 18 टायर है उस मान से मुझसे पिछले  वर्ष में प्रति चक्कर 600 रूपये  लिए जाते थे लेकिन जैसे ही आज में नयागाव परिवहन चेकपोस्ट पर पहुंचा मुझसे 1800 रूपये की इंट्री माँगी मैंने मना किया तो बोले नए अधिकारी आ गए है उनके मान से नयी लिस्ट जारी हो गई है और उसके मान से तेरी गाड़ी के 1800 रूपये लगेंगे। पहले यंहा दूसरा अधिकारी था अब यंहा नया अधिकारी आ गया है। 1800 रूपये दो और यंहा से जाओ नहीं तो गाड़ी खड़ी कर दो रूपये लेकर आना और गाड़ी ले जाना। साहब सरकार को इस का नाम बदलकर अब लूट केंद्र रख देना चाहिए ताकि हमें भी सहूलियत हो की यंहा भारतीय संविधान लागु नहीं होता . 
गुरमीतसिंह बलदेवसिंह हनुमानगढ़ पीड़ित वाहन चालक 
 
जिला प्रशासन की नाक के निचे 24*365 परिवहन माफिया सक्रीय  
आम आदमी पार्टी के नवीन कुमार अग्रवाल ने कहा की हम निरंतर 2013 से इस अवैध वसूली के खिलाफ संघर्ष कर रहे है और प्रशासन को भी इसकी पूर्ण जानकारी है साथ ही वर्तमान में कमलनाथ सरकार के वचन पत्र अनुसार की हम भ्रस्टाचार को कतई बर्दास्त नहीं करंगे और अभी वर्तमान में विभिन क्षेत्रों में व्याप्त मफियाओं के साथ ही परिवहन माफिया के खिलाफ  भी कार्यवाही करने के आदेश जारी किये है लेकिन आश्चर्य होता है की जिला प्रशासन की नाक के निचे 24 घंटे 365 दिन निर्बाध रूप से यंहा पदस्थ अधिकारी एवं उनके अधीनस्थ कर्मचारियों एवं उनके द्वारा पोषित निजी लठेतो द्वारा माफिया राज चलाया जा रहा है उस पर कोई भी कारवाही नहीं करना जिला प्रशासन की लाचारी प्रदर्शित करता है जबकि पहले भी इसी  जिला प्रशासन के मुखिया  तत्कालीन कलेक्टर नंदकुमारम ने यंहा पर छापामारी कारवाही करके अवैध वसूली को उजागर किया था तो वर्तमान प्रशासन मूकदर्शक क्यो है ?
अग्रवाल ने कहा की हमने आज नयागाव से नीमच तक विभिन वाहन चालकों से बात की तो उनका कहना था की हम इस माफियाराज से पीड़ित है और कोई भी हमारी नहीं सुनता है और तो और अभी 1 जनवरी से अवैध वसूली की राशि 100 रूपये से लेकर 300 रूपये अतिरिक्त लगने लगी है जो किहमारे साथ जबरन लूट है।  सभी वाहन चालकों का दर्द इस रूप में हमारे सामने आया की उनका कहना था की अब कमलनाथ सरकार को इस एकीकृत जाँच चौकी का नाम बदलकर लूट केंद्र कर देना चाहिए ताकि हमें भी संतोष हो की हमारा स्वागत एकीकृत चेक पोस्ट पर न होकर लूट केंद्र  पर हो रहा है।
अग्रवाल ने बताया किहमने वीडियोग्राफी करते समय ही परिवहन विभाग के मुखिया व्ही मधुकुमार  से फ़ोन पर चर्चा कर इस माफिया राज के सम्बन्ध में बातचीत की तो उनका कहना था की मैं इस पर संज्ञान लेता हु।  देखते है की लोकायुक्त से पधारे कर्मठ अधिकारी व्ही मधुकुमार इस माफिया राज पर क्या कारवाही करते है और प्रदेश शासन और स्थानीय प्रशासन को भी  आगाह करते है की अगर 15 दिवस पर इस पर कोई सकारातमक कारवाही नहीं होती है तो हम परिवहन चेकपोस्ट पर कभी भी अनिश्चितकालीन धरना आंदोलन करेंगे जिसकी जवाबदारी साशन प्रशासन की होंगी।