ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
प्रावीण्य सूची में शामिल श्री गणेश संस्कृत विद्यालय के छात्र हुए सम्मानित
January 3, 2020 • Avi Dubey
*नेता प्रतिपक्ष द्वारा संचालित निःशुल्क संस्कृत विद्यालय के 5 छात्र प्रावीण्य सूची में शामिल होने पर हुए सम्मानित*
-- स्कूल शिक्षा मंत्री एवं विभाग की प्रमुख सचिव ने किया सम्मान
-- संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए नेता प्रतिपक्ष श्री भार्गव ने  2008 में शुरू किया निःशुल्क संस्कृत विद्यालय*
भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव द्वारा संस्कृति और संस्कृत को संवर्द्धन को लेकर गढ़ाकोटा में चलाये जा रहे निःशुल्क श्री गणेश संस्कृत विद्यालय के 5 छात्रों को महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान ने  शुक्रवार को संस्कृत पूर्व मध्यमा( दसवीं) की परीक्षा में प्रदेश की प्रावीण्य सूची के आने पर आये विद्यार्थियों को सम्मानित किया है। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री श्री प्रभुराम चौधरी एवं स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती नीलम शमी ने विद्यार्थियों को प्रशस्ति पत्र के साथ प्रोत्साहन राशि के चेक देकर सम्मानित किया। विद्यालय के छात्र श्री रमाकांत दुबे ने प्रावीण्य सूची में पहला स्थान प्राप्त किया है। 
*नेता प्रतिपक्ष ने विद्यार्थियों को दी बधाई*
नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव ने छात्रों के सम्मानित होने पर उन्हें आज भोपाल स्थित निवास पर बधाई दी। उन्होंने छात्रों और विद्यालय के शिक्षकों की हौसला बढ़ाते हुए कहा कि ऐसे सार्थक परिणाम जहां एक ओर अधिक काम करने के लिए मुझे प्रेरणा और ऊर्जा देते हैं, वहीं आत्मसंतुष्टि की अनुभूति भी प्रदान करते हैं। विगत ग्यारह वर्षों की मेरी इस साधना को विद्यालय के विद्यार्थियों ने इस वर्ष सार्थकता प्रदान की है। इस दौरान छात्रों के साथ विद्यालय के शिक्षक श्री 
*नेता प्रतिपक्ष श्री भार्गव की मेहनत रंग लाई*
भारतीय सनातन संस्कृति और संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए मध्यप्रदेश विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष श्री गोपाल भार्गव नें 2008 में गढ़ाकोटा स्थित प्राचीन श्री गणेश मंदिर मे श्री गणेश संस्कृत विद्यालय प्रारंभ किया था। इस विद्यालय मे अध्ययनरत विद्यार्थियों हेतु आवास,वस्त्र, भोजन, व शिक्षा पूर्णतः निःशुल्क प्रदान की जाती है। संस्कृत, संस्कृति, वेद, कर्मकांड इत्यादि के साथ साथ विद्यार्थियों को अन्य सभी लौकिक विषयों विज्ञान, अंग्रेजी, गणित, इत्यादि की भी शिक्षा दी जाती है। 
*इन छात्रों को मिले प्रमाणपत्र के साथ प्रोत्साहन राशि*
सम्मान समारोह में स्कूल शिक्षा मंत्री श्री प्रभुराम चौधरी विशिष्ट अतिथि थे। श्री चौधरी ने श्री गणेश संस्कृत विद्यालय के चयनित छात्रों को प्रशस्तिपत्र के साथ प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित किया है। सम्मानित होने वाले छात्रों में प्रावीण्य सूची में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर रमाकांत दुबे को प्रशस्तिपत्र के साथ 25 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि का चेक तथा प्रावीण्य सूची में अन्य स्थान प्राप्त करने पर विद्यालय के छात्र रितिक रोशन तिवारी को 24 हजार, आशीष समदरिया को 21 हजार, सुनील कुमार गंगेले को 20 हजार और राज दुबे को 19 हजार की प्रोत्साहन राशि के साथ प्रशस्तिपत्र मिला है।