ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
रक्तदान में रेडक्राॅस ने बनाया विश्व रिकाॅर्ड
February 20, 2020 • Avi Dubey

आज मिलेगा गोल्ड बुक आफ वल्र्ड रिकाॅर्ड का खिताब
स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने शिविर में पंहुचकर बढाया हौसला, रेडक्राॅस के प्रयासों को सराहा
भोपाल। भारतीय रेडक्राॅस सोसायटी शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में मप्र रेडक्राॅस शाखा इस साल सामाजिक क्षेत्र में कई गतिविधियां आयोजित करेगी। सोसायटी द्वारा सामाजिक और चिकित्सा के क्षेत्र में आयोजित गतिविधियों ने कीर्तिमान स्थापित किया है। 24 घंटे का रक्तदान  शिविर आयोजित कर चिकित्सा और ब्लड डोेनेशन के प्रति जागरूक करने का अच्छा प्रयास किया है। इसके लिए चेयरमेन आशुतोष पुरोहित और रेडक्राॅस के स्टाफ सहित रक्तदान करने वाले दानियों को में बधाई देता हूं। ये बात प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने रेडक्राॅस द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर में कही। ,
-सेक्रेटरी जनरल श्री आर.के. जैन ने दी बधाई
भारतीय रेडक्रास सोसायटी के शताब्दी वर्ष की श्रृंखला के अंतर्गत म.प्र.  रेडक्रास राज्य शाखा द्वारा 24 घण्टे के आयोजित रक्तदान शिविर को लेकर राष्ट्रीय मुख्यालय नई दिल्ली के सेक्रेटरी जनरल श्री आर.के. जैन द्वारा म.प्र. राज्य शाखा के चेयरमैन आशुतोष पुरोहित को दूरभाष कर बधाई दी है। उन्होंने इस पुनीत कार्य के लिये राष्ट्रीय की ओर से म.प्र. रेडक्रास के स्टाॅफ बहुत-बहुत बधाई के पात्र हैं।
-गोल्डन बुक आॅफ वल्र्ड रिकाॅर्ड के कैमरे की निगरानी में शुरू हुआ कैम्प
मप्र रेडक्राॅस सोसायटी के चेयरमेन आशुतोष पुरोहित ने बताया कि गुरूवार सुबह 6.10 पर रक्तदान शिविर का शुभारंभ हुआ था। इसका समापन कल यानि शुक्रवार सुबह ठीक 6 बजकर 10 मिनट पर होगा। पूरे शिविर में आने वाले ब्लड डोनर्स का रिकाॅर्ड और निगरानी सत्यापन गोल्डन बुक आॅफ वल्र्ड रिकार्ड के एशिया हेड डाॅ. मनीष विश्नोई की निगरानी में किया जा रहा है। इस शिविर में भोपाल शहर के विभिन्न वर्गों द्वारा उत्साहपूर्वक रक्तदान किया जा रहा है। वल्र्ड रिकाॅर्ड की टीम की मांग पर सोसाइटी द्वारा कैमरे की व्यवस्था की गई है। रिकाॅर्ड रखा जा सके। रेडक्रास द्वारा इस प्रकार के रक्तदान शिविर को सफल बनाने में रेडक्रास के स्टाॅफ के सराहनीय योगदान से कार्यक्रम सफल होने जा रहा है। समाचार लिखे जाने लगभग 200 रक्तदाताओं ने इस समाजिक कार्य में अपना योगदान दिया है।
-स्टाफ में आया उत्साह, पहली बार रक्तदान कर खुश हुए लोग
रेडक्राॅस सोसाइटी की जनरल सेक्रेटरी डा. प्रार्थना जोशी ने बताया कि इस शिविर में कई ऐसे साथियों ने रक्तदान किया है जो कई सालों से अस्पताल और चिकित्सा के क्षेत्र में सेवाएं दे रहे थे। लेकिन जागरूकता के अभाव में कभी रक्तदान नहीं किया। शिविर में पहली बार रक्तदान करने वाले डोनर्स इस बात से खुश हैं कि उनका खून किसी जरूरतमंद के काम आयेगा। डा. जोशी ने कहा कि इस शिविर को आयोजित करने की पीछे ये सोच थी कि रात में रक्तदान करने के लिए लोग प्रेरित हों और भ्रांतियां दूर हों।
-डोनर को मिले कार्ड जरूरत पर मिलेगा रिप्लेसमेंट फ्री ब्लड
रेडक्राॅस के रक्तदान शिविर में ब्लड डोनेट करने वाले दानदाताओं को सोसाइटी ने प्रमाणपत्र और कार्ड दिये हैं। डोनर को और उसके परिवार को कभी भी ब्लड की जरूरत हुई तो उसे रिप्लेसमेंट फ्री ब्लड यानि बिना डोनर के तत्काल रेडक्राॅस के ब्लड बैंक से 24 घंटे ब्लड मिल सकेगा।
काॅलेजों के छात्र-छात्राएं पंहुचे रक्तदान करने
ऐतिहासिक रक्तदान शिविर के विश्व रिकाॅर्ड में अपना नाम दर्ज कराने एआरआई नर्सिंग काॅलेज,काॅर्पोरेट वर्क आॅफ इंस्टीट्यूशंस, पीसीडीएस भोपाल, एमवीएम काॅलेज, भोपाल की यूथ ब्लड डोनर असमा खान के अलावा एक दर्जन शैक्षक्षिक और सामाजिक संस्थाओं के कार्यकर्ताओं और छात्र-छात्राओं ने रक्तदान कर गोल्डन बुक आॅफ वल्र्ड रिकाॅर्ड में अपना नाम दर्ज कराया।
इस कार्यक्रम में रेडक्रास राज्य शाखा के चेयरमैन श्री आशुतोष पुरोहित, जनरल सेक्रेटरी प्रार्थना जोशी, जूनियर रेडक्रास के चेयरमैन डाॅ. एल.एन.शर्मा, रेडक्रास के प्रशासनिक अधिकारी श्री आर.के. जैन सहित रेडक्राॅस कार्यालय एवं चिकित्सालय का स्टाॅफ मौजूद था।