ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
रोटी बिना जी लेंगे पर बेटी का अपमान नहीं सहेंगे
January 5, 2020 • Avi Dubey

सी.ए.ए. के समर्थन में आयोजित रैली में उमड़ा जनसैलाब 

जागरूक नागरिक मंच के तत्वाधान में CAA के समर्थन एवं जागरूकता हेतु सभा एवं रैली का आयोजन डिपो चौराहा पर किया गया। रैली की अध्यक्षता वरिष्ठ नेत्र चिकित्सक डॉ पी. एस. बिंद्रा ने की। मुख्य वक्ता के तौर पर राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा उपस्थित रहे। 

डॉ बिंद्रा ने पाकिस्तान में सिक्खों पर हो रहे अत्याचार की बात की। परसों गुरु नानक देव जी के जन्म स्थान ननकाना साहब पर हुई घटना का भी उल्लेख किया।उन्होंने बताया कि कैसे वहां छोटे-छोटे लड़कियों का अपहरण करके उनका धर्मांतरण किया जाता है और उनको धार्मिक रूप से प्रताड़ित किया जाता है।

उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि धार्मिक रूप से प्रताड़ित हिंदू अगर भारत नही आएगा तो कहां जाएगा। उन्होंने मंच से ही 'वी सपोर्ट सीएए' के नारे लगवाए और अपने उद्बोधन का अंत जो बोले सो निहाल से किया।

लगातार घट रही अल्पसंख्यकों की जनसंख्या 

         कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राकेश सिन्हा ने पाकिस्तान/बांग्लादेश में लगातार घटते अल्पसंख्यकों की संख्या पर चिंता जाहीर की। उन्होंने इस कानून का विरोध करने वालों से ढाका यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर अबुल बरकत की पुस्तक पढ़ने को कहा, जिसमें बताया गया है कि 1964 के बाद बांग्लादेश में प्रतिदिन 932 हिन्दू कम हो रहे हैं।

       उन्होंने CAA के बारे में बताया कि इसमें आर्थिक/सामाजिक कारणों से नागरिकता नही दी जा रही है। इसमें उनको नागरिकता दी जा रही है जिनको अपनी पूजा पद्धति का पालन नहीं करने दिया जा रहा है और धर्म के आधार पर प्रताड़ित किया जा रहा है। उन्होंने इस कानून का विरोध करने वालों से पूछा कि इन तीनों देशों किस मुसलमान को नमाज पढ़ने से रोका जा रहा है? वो मुसलमान चाहे सुन्नी हो शिया हो या अहमदिया। अगर इसका विरोध करने वाले एक भी ऐसे मुसलमान का नाम बताएंगे तो सी.ए.ए. पर विचार किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि आदमी एक बार रोटी पर आक्रमण सह सकता है लेकिन बेटी पर आक्रमण सहन नही कर सकता।

          कार्यक्रम में पाकिस्तान से विस्थापित हिन्दुओं ने अपने आपबीती सुनाते हुए कहा कि हिन्दुओं को न वहां व्यवसाय करने की इजाजत है न अपने मान्यताओं को मानने की, सरकार हर रास्ते से उनपर धर्मान्तरण के लिए दबाव बनाती है। सैंकड़ो की संख्या में विस्थापित हिन्दू कार्यक्रम में शामिल हुए।

 हजारों की भीड़, कमाल का अनुशासन          

      जागरूक नागरिक मंच के सहसंयोजक अधिवक्ता रवि गोयल ने बताया कि इस कार्यक्रम का मूल उद्देश्य उन भ्रंतियों और अफवाहों पर विराम लगाना है जो CAA के बारे में लोग फैला रहे हैं।

सभा के अंत मे सभी ने खड़े होकर राष्ट्रगान गाया। इसके बाद रैली प्रारंभ हुई।

     रैली डिपो चौराहे से प्रारंभ होकर रंगमहल से रोशनपुरा चौराहे से होती हुई थाने के सामने से वापस अपने स्थान पर पहुंची। रैली में लगभग 50 हजार शामिल हुए और यह रैली 2 km लंबी थी। रैली में सभी लोग we support CAA, भारत माता की जय, वंदेमातरम, प्रताड़ित भाइयों का एक स्थान हिंदुस्तान हिंदुस्तान के नारे लगा रहे थे। रैली में डॉ शिवचंद्र दुबे (सेवानिवर्त निदेशक राष्ट्रीय सुरक्षा पशु रोग संस्थान), सेवानिवृत्त जिला न्यायाधीश विनोद भारद्वाज, सेवानिवृत्त IG वेदप्रकाश शर्मा, किशोर न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश जय नारायण गुप्त समेत भारी संख्या में शहर के बुद्धिजीवी एवं महिलाएं भी शामिल हुई। इतनी अधिक संख्या के बावजूद भी रैली अनुशासन में रही एवं सभा के दौरान एम्बुलेंस के गुजरने के लिए रास्ता भी बनाया। रैली के दौरान स्वच्छता पर भी विशेष ध्यान दिया गया, रैली के बाद आयोजन स्थल पर न गन्दगी का अम्बार दिखा न सड़क पर फैला कचड़ा।