ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
सिस्टेक के ‘निर्माण 2020’ का आठवां संस्करण इलेक्ट्रिक व्हीकल स्टार्टअप कॉन्क्लेव से प्रारम्भ
January 28, 2020 • Avi Dubey

भोपाल, जनवरी 28, 2020 : सागर इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (सिस्टेक) के मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग का  सिग्नेचर इवेंट ‘निर्माण 2020’ का प्रारम्भ गांधी नगर कैम्पस मे इलेक्ट्रिक व्हीकल स्टार्टअप कॉन्क्लेव से प्रारम्भ हुआ । दो दिवसीय ‘निर्माण 2020’ का आयोजन सिस्टेक मैकेनिकल इंजीनियर्स एसोसिएशन(SMEA) के बैनर तले ऑटोमोटिव इंजीनियर्स सोसायटी (SAE) और इंडियन इंस्टीटूशन ऑफ़ इंडस्ट्रीयल इंजीनियरिंग (IIIE) व स्टूडेंट चैप्टर के ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसिएशन ऑफ इंडिया (ARAI) और एसओईईएम व यूटीडी आर.जी.पी.वी. नालेज पार्टनर के मार्गदर्शन मे हुआ । ‘निर्माण 2020’ को इस वर्ष टीईक्यूआईपी III के  तहत आर.जी.पी.वी. ने प्रायोजित किया है। कॉन्क्लेव का उद्घाटन डॉ सुनील कुमार - कुलपति राजीव गांधी प्राद्योगिकी विश्वविद्यालय ने सागर ग्रुप के मैंनेजिंग डायरेक्टर -  श्री सिद्धार्थ सुधीर अग्रवाल, डॉ केशवेंद्र चौधरी - प्रिंसिपल सिस्टेक, डॉ कुलदीप गंजू - प्रिंसिपल सिप्टेक, डॉ स्वाति सक्सेना -वाईस प्रिंसिपल सिस्टेक, डॉ अभिषेक त्रिपाठी - डीन सिस्टेक एमबीए, डॉ रविशंकर चौधरी - एचओडी मैकेनिकल विभाग, श्री बी.एस. कुशवाह- सीनियर एडमिनिस्ट्रेटर सिस्टेक और टेक्नोक्रेट स्टूडेंट्स की उपस्थिति में किया।

 ‘निर्माण 2020’ का उद्देश्य ई-वाहन स्टार्ट-अप के जीवनचक्र पर विशेष अंतर्दृष्टि प्रदान करना है।  कॉन्क्लेव मे उद्योग स्तर की कार्यशालाएँ, पैनल चर्चाएँ, प्रस्तुतियाँ, नवीन केस स्टडीज, स्टार्ट-अप केस स्टडीज़, नीतियां और व्यवसाय मॉडल शामिल रही जिसमें वर्ल्ड ऑटो फोरम, मैड अबाउट व्हील्स, एआरएआई अकादमी आदि के विशेषज्ञ मौजूद रहे । ‘निर्माण 2020’ का लक्ष्य टेक्नोक्रेट्स मे विज्ञान और इंजीनियरिंग की विभिन्न धाराओं से नवाचार व निर्माण कर इलेक्ट्रिक वाहन के डिज़ाइन, तकनीकी सोच और अवधारणा से जीवन मे गुणवत्ता लाने का प्रयास करना रहा है । अगले दो दिनों में टेक्नोक्रेट स्टूडेंट्स ई- व्हीकल विकास के लिए नवप्रवर्तन, प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग, व्यावसायिक विकास व आर्थिक विकास की रणनीतियों का समर्थन को जानेंगे । कॉन्क्लेव इलेक्ट्रॉनिक वाहनों - विद्युत स्रोतों और ऊर्जा भंडारण विकल्पों, इसके घटक, मोटर्स और बैटरी, चार्जिंग विकल्प, प्लग-इन चार्जिंग स्टेशन, बैटरी प्रबंधन, गुण और अवगुण, सरकार प्रोत्साहन व  सब्सिडी, पदोन्नति, वर्तमान बाजार स्थितियों की स्थिरता व भविष्य की रणनीति पर केंद्रित रहेगा। ‘निर्माण 2020’ में 28 टीमों ने  ई-वाहन का प्रदर्शन किया जिसमें भारत के 300 से अधिक टेक्नोक्रेट्स ने भाग लिया ई- व्हीकल डिजाइन की प्रतिस्पर्धा भी आयोजित हुई जिसमें प्रतिभागी टीमो को सर्वश्रेष्ठ व्यवसाय योजना, सर्वश्रेष्ठ डिजाइन, इनोवेशन, प्रोटोटाइप, बैटरी प्रबंधन प्रणाली आदि क़े आधार पर   1 लाख रुपये तक के पुरस्कार प्रदान किये जायेगे। 

इस अवसर पर मुख्य अतिथि डॉ सुनील कुमार ने कहा कि, “मैं टेक्नोक्रेट्स के विचारों व नवाचार से ई- व्हीकल विकसित करने के लिए सिस्टेक की टीम को ‘निर्माण 2020’ के सफलतापूर्वक आठवे आयोजन के लिए बधाई देता हूं। ई-व्हीकल मॉडल अद्भुत हैं जो टेक्नोक्रेट्स को भविष्य की तकनीक बनाने का अवसर प्रदान करता है।”  अपने सम्बोधन मे श्री सुधीर कुमार अग्रवाल ने कहा कि, “असीसेबेलिटी और अफोर्डेबिलिटी इनोवेशन को जन्म देती है। टेक्नोक्रेट्स को अपने ज्ञान से नवाचार करते रहना चाहिए और राष्ट्र निर्माण कर देश को सुपर पावर बनाने मे  योगदान करना चाहिये । ‘निर्माण 2020’ इसी दिशा मे सिस्टेक का एक और स्टार्ट-अप कदम है। " 

Nitish Talwar