ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
स्टरलाईट पाॅवर को जम्मू-कश्मीर में एनआरएसएस-29 पाॅवर ट्रांसमिशन प्रोजेक्ट के लिए आईपीएमए ग्लोबल प्रोजेक्ट एक्सिलेंस अवार्ड मिला
October 16, 2019 • Avi Dubey

इंटरनेशनल प्रोजेक्ट मैनेजमेंट एसोसिएशन (आईपीएमए) की ओर से प्रतिष्ठित ग्लोबल सम्मान।
एनआरएसएस-29 को प्रोजेक्ट के प्रबंधन एवं क्रियान्वयन के लिए सर्वश्रेष्ठ विधियां अपनाने के लिए मेगा प्रोजेक्ट श्रेणी में 'गोल्ड अवार्ड' का सर्वोच्च सम्मान मिला।

नई दिल्ली, 16 अक्टूबर, 2019: पाॅवर ट्रांसमिशन में ग्लोबल लीडर, स्टरलाईट पाॅवर को जम्मू-कश्मीर में अपनी नाॅर्दर्न रीज़न स्ट्रेंथनिंग स्कीम (एनआरएसएस-29) के लिए प्रतिष्ठित ग्लोबल प्रोजेक्ट एक्सिलेंस अवार्ड 2019 में मेगा साईज़्ड प्रोजेक्ट की श्रेणी में उल्लेखनीय गोल्ड अवार्ड दिया गया है। यह पुरस्कार मैक्सिको में 1 अक्टूबर, 2019 को आयोजित हुई 31 वीं आईपीएमए वल्र्ड कांग्रेस में दिया गया। 
एनआरएसएस-29 प्रोजेक्ट देश में आज तक कमीशन किए गए सबसे बड़े व सबसे कठिन प्राईवेट सेक्टर ट्रांसमिशन प्रोजेक्ट्स में से एक था। राष्ट्रीय महत्व का यह 414 किलोमीटर लंबा ट्रांसमिशन काॅरिडोर जगह व मौसम की अत्यधिक कठोर चुनौतियों का सामना करते हुए बनाया गया। स्टरलाईट पाॅवर ने यह महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट टेक्नाॅलाॅजी का अभिनव उपयोग करते हुए स्थानीय समुदायों के साथ गहरी संलग्नता एवं सामंजस्यपूर्ण गठबंधन के साथ समय से पहले पूरा कर दिया। यह प्रोजेक्ट जम्मू-कश्मीर में, खासकर सर्दियों के मौसम में भरोसेमंद बिजली प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा, जब वहां अक्सर ब्लौक आउट होता रहा है। इस प्रोजेक्ट को इस साल फरवरी, 2019 में माननीय प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी ने देश को अर्पित किया।
इस उपलब्धि के बारे में श्री प्रतीक अग्रवाल, ग्रुप सीईओ, स्टरलाईट पाॅवर ने कहा, ''जम्मू-कश्मीर में 12.5 मिलियन लोगों की जिंदगी में प्रकाश लाने वाले एनआरएसएस-29 पाॅवर ट्रांसमिशन प्रोजेक्ट के लिए आईपीएमए से यह ग्लोबल सम्मान प्राप्त करना गर्व की बात है। हम अपने कर्मचारियों एवं पार्टनर्स की समर्पित टीम के लिए आभारी हैं, जिन्होंने विशाल चुनौतियों का सामना करते हुए देश के सबसे कठिन ट्रांसमिशन प्रोजेक्ट्स में से एक समय से पहले पूरा करने के लिए अथक परिश्रम किया।
स्टरलाईट पाॅवर भारत की पहली पाॅवर ट्रांसमिशन कंपनी है, जिसे आईपीएमए से प्रतिष्ठित गोल्ड श्रेणी में पुरस्कार मिला है। इस प्रोजेक्ट को उद्योग की अन्य बड़ी हस्तियों, जैसे चाईना एनर्जी शेनयांग ग्रुप कं. लि., प्रिस्मियन पाॅवरलिंक एसआरएल, इटली और पीटी. जेजीसी इंडोनेशिया के द्वारा कड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच सर्वोच्च सम्मान मिला है। इंटरनेशनल प्रोजेक्ट मैनेजमेंट एसोसिएशन (आईपीएमए) नीदरलैंड्स में स्थित है और दुनिया का सबसे पुराना प्रोजेक्ट मैनेजमेंट एसोसिएशन है। आईपीएमए अवार्ड पूरी दुनिया के उन प्रोजेक्ट्स को दिया जाता है, जो प्रोजेक्ट मैनेजमेंट की उत्कृष्टता प्रदर्शित करते हैं।
स्टरलाईट पाॅवर के बारे में
स्टरलाईट पाॅवर, पाॅवर ट्रांसमिशन इन्फ्रास्ट्रक्चर का अग्रणी ग्लोबल डेवलपर है, जिसने भारत और ब्राजील में 13,315 सर्किट किलोमीटर एवं 23,885 एमवीए से ज्यादा के प्रोजेक्ट किए हैं। पाॅवर कंडक्टर्स, ईएचवी केबल और ओपीजीडब्लू के उद्योग में अग्रणी पोर्टफोलियो के साथ स्टरलाईट पाॅवर अपग्रेडिंग, अपरेटिंग और वर्तमान नेटवर्क मजबूत करने के लिए समाधान प्रदान करता है। कंपनी ने अत्याधुनिक टेक्नाॅलाॅजी और इनोवेटिव फाईनेंसिंग के उपयोग द्वारा उद्योग में नए मापदंड स्थापित किए हैं। स्टरलाईट पाॅवर इंडीग्रिड का स्पाॅन्सर भी है, जो भारत का पहला पाॅवर सेक्टर इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (''इनविट'') है और बीएसई एवं एनएसई पर सूचीबद्ध है।