ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
स्वामी विवेकानंद की ‘द वर्चूअस लाईफ’ से हुआ सागर पब्लिक स्कूल गांधी नगर  के वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव का समापन
November 17, 2019 • Avi Dubey
  • सागर पब्लिक स्कूल, गांधी नगर कैम्प्स का 15वां वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव।
  • सेकेण्डरी विंग का वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव स्वामी विवेकानंद की 'द वर्चूअस लाईफ'' की थीम पर आधारित। 

 

    • प्रसिद्ध लेखक और लाईफ स्किल मेंटर श्री अरुण प्रभु सेकेण्डरी विंग के वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव के मुख्य अतिथि रहे

 

  • दो दिनो मे 1500+ सागराईट्स ने वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव में भाग लिया  

 

भोपाल, नवम्बर 16, 2019 : सागर पब्लिक स्कूल, गांधी नगर ने अपने सेकेण्डरी विंग की प्रस्तुति से स्कूल मे दो दिन से चल रहे 15वें वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव का समापन किया।  दो दिवसीय वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव में जूनियर और सेकेण्डरी विंग शामिल थे जिसमें 1500+ सगराईट्स ने मानवता और गुणों के रूप में अपनी प्रतिभाओ का नवाचार से प्रदर्शन किया। वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव के प्रथम दिवस ब्लूमिंग जूनियर्स सागराईट्स ने 'द वर्चूअस फ्लाईट' की थीम पर प्रस्तुति पेश की । सेकेण्डरी विंग का वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव स्वामी विवेकानंद की 'द वर्चूअस लाईफ'' की थीम पर आधारित रहा जिसमे श्री अरुण प्रभु, प्रसिद्ध लेखक और लाईफ स्किल मेंटर कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप मे सम्मलित हुये ।

एक मनोहर और जीवंत कार्यक्रम मे 600+ सागराईट्स ने स्वामी विवेकानंद की 'द वर्चूअस लाईफ'' पर उनके मूल्यों व गुणों की प्रस्तुतियो को पेश किया और उनके जीवन के सर्वभौमिक भाईचारे, आध्यात्मिक एकीकरण और कर्मयोग को दर्शाया । सागराईट्स ने 'धुनुची' बंगाली नृत्य से उनके आगमन और चिंता से परे को दर्शाकर सबका स्वागत किया । सागराईट्स ने नटखट अठखेलियो से उनके बचपन के विचारों और कार्यों को प्रदर्शित किया और 'ट्रुथफुल नरेन' से उनकी ईमानदारी और सादगी का परिचय दिया। इंस्पायरिंग एथोस मे सागराईट्स ने माँ को उनकी प्रेरणा और कृतज्ञता का स्त्रोत बताया और 'आत्मानुभूति' मे उनके द्वारा ज्ञान की खोज व रामकृष्ण से उनकी पहली मुलाकात को उजागर किया जो उनके जीवन मे एक महत्वपूर्ण मोड़ से गुरु के रूप मे जुड़ी को प्रस्तुत किया। सागराईट्स ने वेस्टर्न और इंडियन क्लासिकल के फयूज़न से एक म्यूजिकल ऑर्केस्ट्रा के द्वारा 'पार्लियामेंट ऑफ रिलीजन' में उनकी शिकागो में संन्यासी के रूप में यात्रा को प्रस्तुत किया और विश्वकल्याणम मे भारत वापसी से सामाजिक मुद्दों को संबोधित करते हुए - लोगों के उत्थान, जाति प्रथा, गरीबी, विज्ञान और औद्योगीकरण को संबोधित किया । सागराईट्स ने  उनके द्वारा रामकृष्ण मिशन की स्थापना, बाल विवाह, विधवा पुनर्विवाह, योग, मूल्यों और गुणों का विकार, वेदों का पुन:रुद्धार आदि सामाजिक मुद्दों को संबोधित कर  उनके कार्यों को चिन्हित किया। विवेकानंद रॉक पर उनके द्वारा ध्यान केंद्रित कर 'भारत के विजन ' व जन उत्थान के लिए अपना जीवन समर्पित कर - लक्ष्य तक पहुंचने के लिए उठो, जागो और रोको को दर्शया ।

सागर ग्रुप के चेयरमैंन श्री सुधीर कुमार अग्रवाल और प्रिंसिपल अल्पा प्रभु ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह भेंट किया। छात्रों की प्रशंसा और उन्हे प्रोत्साहित करते हुए अरुण प्रभु ने कहा, “मैं सागर पब्लिक स्कूल के वार्षिक समारोह मे भाग लेकर गौरान्वित महसूस कर रहा हू। मै स्कूल के हर छात्र को उनके रचनात्मक प्रदर्शन और स्वामी विवेकानंद के पथ से जगत जीतने के संदेश के लिए बधाई देता हूं । मै स्कूल की प्रिंसिपल और टीचर्स को छात्रो मे सद्गुण व सकारात्मक विचार द्वारा मार्गदर्शन के अनूठे प्रयास को नमन करता हूं।” अपने प्रेरणादायक संबोधन में सागर ग्रुप के चेयरमैन श्री सुधीर कुमार अग्रवाल ने कहा कि " हमारे स्कूल नैतिक शिक्षा पर केंद्रित हैं और हम हर दिन इस  प्रणाली का विस्तार करना जारी रखेंगे और छात्रों को अवसर प्रदान करते रहेंगे ।" इस अवसर पर प्रिंसिपल अल्पा प्रभु ने स्कूल की वार्षिक रिपोर्ट साझा की और अभिभावको से स्कूल की उपलब्धियों को सूचीबद्ध किया। अपने संबोधन मे उन्होने कहा "सागर पब्लिक स्कूल में हम सागराईट्स की प्रतिभाओ को नैतिक गुणों से पोषण करते है । सागराईट्स ने आज स्वामी विवेकानंद के गुण, ज्ञान व कौशल को हम सब से साझा कर हमे एक अनोखे  तरीके से विश्व का नेतृत्व करने का संदेश दिया है। ”

एक पुरस्कार व सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि ने दस वर्षों से अधिक स्कूल से जुडे‌ रह्ने व योगदान के लिये टीचर्स का सम्मान किया और मेधावी सागरईट्स को उनके प्रयासो एवं उपलब्धि के लिये सम्मानित भी किया । वार्षिक उत्सव का समापन हेड गर्ल जहानवी, हेड बॉय प्रथम व वाईस प्रिंसिपल मृदु प्रकाश सक्सेना के धन्यवाद ज्ञापन व राष्ट्र गान से संपन्न हुआ ।

Nitish Talwar