ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
स्वस्थ्य समाज के निर्माण में सहयोग दे रहा आर्चडायसिस ऑफ भोपाल
November 24, 2019 • Avi Dubey


भोपाल, 23 नवंबर 2019। भारत सरकार स्वच्छता मिशन पर जोर दे रही है। अपने आस पड़ोस के साथ अपने शहर, देश-प्रदेश को स्वच्छ रखना प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी है। पर्यावरण को साफ सुथरा और अपने जीवनदायी बनाने के लिये अधिक से अधिक पौद्यारोपण और प्रदुषण को नियंत्रित करना आवश्यक है।
इस संबंध में पोप फ्रांसिस ने भी 'लाउदातो सी' में कहा है - ''हमें पृथ्वी के प्रबंधन के साथ-साथ गरीबों के साथ एकजुटता करने के लिए कहा जाता है। प्रत्येक व्यक्ति की गरिमा के लिए हमारा गहरा संबंध हमें जीवन की जलवायु को उन्नत करने की आज्ञा देता है, जहां ईश्वर के प्रत्येक बच्चे हमारे निर्माता की प्रशंसा करते हैं और सृजन में शामिल होते हैं।“ 
इस संबंध पर आर्चडायसिस ऑफ भोपाल, भी स्वस्थ्य समाज के निर्माण में विभिन्न योजनाओं और सेवाओं के माध्यम से सरकार को अपना सहयोग दे रहा है। यह समाज के विभिन्न वर्गों से जुड़कर मानव कल्याण के कार्य कर रहा है। इसी श्रृंखला में- गरीब कैथोलिक ईसाई परिवारों के लिये पचमढ़ी, इच्छावर और सीहोर के कुछ स्थानों में योजना की शुरूआत हो चुकी हैै। इस योजना के तहत ऐसे परिवारों को तीन श्रेणीयों में सहायता उपलब्ध करवाई जायेगी। पहली श्रेणी में जिनके पास जमीन है, पर घर बनवाने में असमर्थ हैं, उनको उनकी जमीन पर घर बनवाने के लिये आर्थिक सहायता दी जा रही है, दुसरी श्रेणी में ऐसे परिवार जिनके पास घर जर्जर अवस्था में है, उनको घर की मरम्मत के लिये सहायता उपलब्ध करवाई जा रही है। तीसरी श्रेणी में ऐसा गरीब ईसाई तबका जिनके पास रहने को कोई छत नहीं है अथवा जिनके पास ना स्वंय का घर है और ना जमीन है, उनको नारियलखेड़ा, भोपाल मेेंं मकान बनवाकर दिया जाना प्रस्तावित है।
प्लास्टिक मुक्त भोपाल का संदेश देने के लिये मिशनरी स्कूली बच्चों के साथ एक मुहिम चलायी जायेगी जिसमें प्लास्टिक से बने पदार्थों के दुष्प्रभाव की जानकारी देकर लोगों को सचेत और जागरूक किया जायेगा। इसके तहत रैलियां और कार्यशाला आयोजित की जायेगी। इसके अलावा अन्य सामाजिक मुददों पर जागरूक करने के लिये विभिन्न कार्यक्रम चलाये जायेंगे।
क्रिसमस के सीजन में सभी कैथोलिक ईसाई परिवार जिनके पास स्थान उपलब्ध है अपने परिसर में एक पौद्या लगाएंगे, इसके अलावा पटाखे नहीं जलाएंगे।
हमारी संस्था विगत कई माह से प्रयास कर रही थी कि समाज में बढ़ती हुई आत्महत्या की प्रवृत्तियों को रोकने के लिये कारगर कदम उठायें जायें। किंतु स्थान की कमी की वजह से हेल्प सेंटर की शुरूआत नहीं हो पा रही थी। अब तुलसी नगर स्थित सेवा सदन बिल्डिंग में स्थान उपलब्ध हो जाने के कारण काॅल सेंटर की शुरूआत दिसंबर अंत तक हो जायेगी। इस काॅल सेंटर के माध्यम से हम किसी आपात स्थिति के आने पर विशेष तौर पर स्कूली बच्चों और पालकों को काउंसलिंग प्रदान करेंगे। इस काॅल सेंटर में मनोचिकित्सक, डॅाक्टर्स के अलावा विशेषज्ञ फादर्स और सिस्टर्स अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे।
आर्चडायसिस ऑफ भोपाल द्वारा विभिन्न सेवाकार्यों (प्रशामक देखभाल, कुष्ठ रोग, बंधुआ मजदूर, पत्थर काटने वाले, प्लेटफार्म बच्चों, मंदबुद्धी, बहरे और गूंगे आदि) पर एक प्रेरक लघु वृत्तचित्र फिल्म का निर्माण करने जा रहा है। इसका निर्माण भोपाल आर्चडायसिस के नवदीप कम्युनिकेशंस के बैनर तले किया जाएगा, जिसे ई-चैनल और यूट्यूब के माध्यम से प्रसारित किया जाएगा और इसके लिए एक छोटा स्टूडियो भी बनाया गया है। इसके अलावा आर्चडायसिस ऑफ भोपाल समाज के ज्वलंत समस्याओं पर प्रेरक लघु डाॅक्यूमेंटरी फिल्म का निर्माण भी करेगा।    
फा. मारिया स्टीफन
पी. आर. ओ.