ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
स्वविकास और सर्वविकस के 25 वर्षों की परंपरा - श्रीमद राजचंद्र मिशन धरमपुर
January 3, 2020 • Avi Dubey

श्रीमद राजचंद्र मिशन धरमपुर ने दुनिया भर से हजारों भक्तों की उपस्थिति  में अपने गौरवशाली २५ वर्षों का उत्सव मनाया 

श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर,महान भारतीय संत, श्रीमद् राजचंद्रजी के परम भक्त पूज्य गुरुदेवश्री राकेशभाई द्वारा स्थापित एक वैश्विक आध्यात्मिक संस्था है। प्रस्तुत संस्था ने इस वर्ष अपनी स्थापना के 25 साल पूरे किए हैं। इस महत्वपूर्ण अवसर का उत्सव श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर  के अंतरराष्ट्रीय मुख्यालय, गुजरात,वलसाड के धरमपुर ज़िले में श्रीमद् राजचंद्र आश्रम में ,रजत महोत्सव के रूप में धूमधाम से मनाया गया। श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर पिछले अनेक वर्षों से पूज्य गुरुदेवश्री के मार्गदर्शन और उनकी असीम करुणा के फलस्वरूप  लगातार विश्व भर में फैलता गया है, और वर्तमान में संस्था के विश्व भर में 108 सत्संग केंद्र हैं जिनके माध्यम से वे पिछले 25 वर्षों से स्वविकास और सर्वविकस का धाम बन गए हैं। अपने मिशन स्टेटमेंट 'स्वयं के सत्य स्वरुप को पहचानो और अन्य की निष्काम सेवा करो ' को कायम रखते हुए: ,श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर पिछले २५ वर्षों से स्वविकास के साथ साथ समाज के वंचित वर्गों के जीवन सुधारने के विभिन्न पहलों में शामिल हैं  

स्वविकास के 25 स्वर्णिम वर्ष:

साधकों को आत्म-साक्षात्कार की  सही दिशा दिखाना और उन्हें आत्मविकास के मार्ग में सहायक बनना श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर का प्राथमिक उद्देश्य है, प्रस्तुत उद्देश्य की पूर्ति हेतु यह संस्था अपने अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय में विभिन्न आध्यात्मिक गतिविधियों का संचालन करती है। अनेक कार्यक्रम जैसे विविध शास्त्रों पर पूज्य गुरुदेवश्री द्वारा ज्ञानवर्धक प्रवचन, अनेक प्रकार की ध्यान-शिबिर , लाइफ-स्किल्स बढ़ाने के लिए कॉर्पोरेट रिट्रीट्स, बच्चों और युवाओं के लिए द्वि-वार्षिक रिट्रीट्स आदि द्वारा हर आयु - वर्ग के लोगों की आत्म उन्नति में संस्था सदा सहायरूप रही है  

पूज्य गुरुदेवश्री राकेशभाई को 'युवा नेता' के रूप में जाना जाता है, जिन्होंने विश्व स्तर पर 92 युवा समूहों के माध्यम से हजारों युवाओं को आत्म-वृद्धि और सामाजिक सेवा की ओर अग्रसर किया है। युवाओं के साथ साथ बच्चों के नैतिक विकास को बढ़ावा देने हेतु , मिशन एक अद्वितीय मूल्य-आधारित जीवन कौशल कार्यक्रम चलाता है जिस का नाम है श्रीमद् राजचंद्र डिवाइनटच यह 4 से 16 साल के बच्चों के आत्म-विकास हेतु एक पहल है , प्रस्तुत कार्यक्रम अद्वितीय शिक्षा और शिक्षण विधियों के माध्यम से बच्चों में सद्गुणों के बीज बोता है यह कार्यक्रम वर्तमान में विश्व भर में 251 केंद्रों के माध्यम से चल रहा है। 

सर्वविकस के 25 स्वर्णिम वर्ष:

लोगों के स्वविकास के अपने लक्ष के साथ-साथ, श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर मानव जाति, पशुओं और पर्यावरण के कल्याण के लिए सेवा प्रदान करने में भी कार्यशील है प्रस्तुत संस्था श्रीमद् राजचंद्र लव एंड केयर नामक एक अनोखे NGO के माध्यम से लाखों वंचितों के जीवन सुधारने में भी कार्यरूप रही है इस NGO के अंतर्गत १० विभान प्रकार के सेवा कार्य जारी है जैसे - आरोग्यसेवा , शैक्षणिक सेवा , बालसेवा , महिलासेवा , आदिवासी सेवा , समाजसेवा , मानवीय सेवा , प्राणीसेवा, पर्यावरणसंरक्षण, संकटसहाय सेवा

श्रीमद् राजचंद्र लव एंड केयर द्वारा विश्वभर में १० सेवाओं के अंतर्गत 75 अभियान जारी है,उनके मुख्य कार्य दक्षिण गुजरात के आदिवासी क्षेत्रों में केंद्रित हैं , उनमे से कुछ प्रमुख अभियान जैसे : अत्यंत वंचित आदिवासी वर्गों की स्थिति में सुधार हेतु दक्षिण गुजरात के आदिवासी क्षेत्रों में जारी श्रीमद् राजचंद्र अस्पताल और  श्रीमद् राजचंद्र विकलांग केंद्र, जो लोगों को नि:शुल्कया इलाज और सहायता प्रदान करते हैं  ; महिला गृह उद्योग - रोजगार के अवसरों के साथ ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए एक कौशल-विकास कार्यक्रम; 238 गाँवों के बीच एकमात्र विज्ञान महाविद्यालय, श्रीमद् राजचंद्र विद्यापीठ; श्रीमद् राजचंद्र गुरुकुल - ग्रामीण बच्चों के लिए पूरी तरह से सुसज्जित स्कूल, और श्रीमद् राजचंद्र एनिमल नर्सिंग होम अदि सदैव जन हित के कार्यों में जुड़े रहतें हैं।

सामाजिक और आध्यात्मिक कल्याण के प्रतीक , श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर ने इस साल अपने अस्तित्व के  २५ वर्ष पूर्ण किये और इस अवसर को मनाते हुए दुनिया भर के 6,000 से अधिक श्रद्धालु एक भव्य रजत महोत्सव का एक भाग बनने श्रीमद् राजचंद्र आश्रम में पधारे   

प्रस्तुत महोत्सव, पूज्य गुरुदेवश्री के प्रेरणादायक प्रवचन के साथ पूज्य स्वामी तद्रूपानंद सरस्वतीजी और  BAPS स्वामीनारायण संस्था के पूज्यश्री ब्रह्मविहारी स्वामी जैसे प्रमुख आध्यात्मिक संतों की दिव्य उपस्थिति से पावन हुआ। उत्सव का शुभारंभ श्रीमद राजचंद्रजी के 34ft प्रतिमा के महामस्तक अभिषेक द्वारा हुआ और संध्या का समय विविद सांस्कृतिक कार्यक्रम जैसे  ' भक्ति नी मौसम छल्के  ' और भारत के प्रथम व्हीलचेयर नृत्य समूह  ' मिरेकल ऑन व्हील्स ' द्वारा एक विशेष प्रदर्शनों से सज्जित था इस शानदार समारोह की अंतिम संध्या का समापन प्रसिद्ध गायक कैलाश खेर द्वारा एक भावपूर्ण लाइव प्रदर्शन के साथ हुआ, और तत्पश्चात  पूज्य गुरुदेवश्री राकेशभाई की पावन उपस्थिति मे नव वर्ष 2020 में प्रवेश किया गया इस उत्सव के दौरान संस्था को युगपुरुष - महात्मा के महात्मा नाटक के निर्माता के रूप में " १०६० लाइव परफॉर्मेंस और विश्व स्तर पर भाषाओँ में टीवी प्रसारण और आधुनिक भारत में वैचारिक क्रांति  के संदेश के साथ विश्व का सब से अधिक देखा जाने वाला नाटक के रूप में  ” दर्ज किया गया , और उसका प्रमाण पत्र पूज्य गुरुदेवश्री को भेंट स्वरुप अर्पण किया गया मिशन के २५ वर्ष पूर्ण  होने के इस  अवसर पर गुजरात के माननीय मुख्यमंत्री श्री वीजयभाई रुपाणी धरमपुर आश्रम में पधारे, पूज्य गुरुदेवश्री और मिशन प्रति अपना आदर और अपनी भावना व्यक्त करते हुआ उन्होंने कहा – 

" श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर आदिवासी क्षेत्र में धरम के साथ साथ सामाजिक सुधार की भावना से सबके कल्याण का केंद्रबिंदु के रूप में प्रस्थापित है। पूज्य गुरुदेवश्री अपने अनोखे दृष्टिकोण और मार्गदर्शन से नई पीढ़ी को धर्म की तरफ आकर्षित कर रहें हैं , यह अपने आप में एक बड़ी बात है "

यह  रजत महोत्सव श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर और उनकी अनेक आध्यात्मिक और सामाजिक पहलों के विश्व व्यापक प्रभाव का उत्सव मनाता है

विश्व स्तर पर अधिक जीवन के सुधार के लिए अपनी सीमाओं का विस्तार करते हुए, मिशन तेजी से बढ़ रहा है। श्रीमद् राजचंद्र लंदन स्पिरिचुअल सेंटर, UK. का उद्घाटन 2018 में किया गया था और श्रीमद राजचंद्र आश्रम, USA. का निर्माण  भी चल रहा है। श्रीमद् राजचंद्र मिशन धरमपुर लगातार दुनिया भर में आत्म विकास और परकल्याण की ज्योत से लाखों लोगों के जीवन को प्रकाशित कर रहा है।

Alpa Gandhi 

Vishesh Chheda