ALL Current events Technology Social RGPV Updates COVID-19
विज्ञान सीखने के लिए जरूरी है, कि आपका किसी वस्तु को देखने का नजरिया वैज्ञानिक हो- डाॅ. तिवारी
November 5, 2019 • Avi Dubey


                         राष्ट्रीय स्तर के स्त्रोत विद्धान दे रहे प्रशिक्षण
भोपाल, 4 नवम्बर 2019। राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद् भारत सरकार नई दिल्ली के सहयोग से साइन्स सेन्टर (ग्वा.) म.प्र. द्वारा  साइन्स क्लब गतिविधि प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए डाॅ. एन.के. तिवारी कुलपति मध्यांचल प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी भोपाल ने कहा कि विज्ञान सीखने के लिए जरूरी है, कि आपका किसी वस्तु को देखने का नजरिया वैज्ञानिक हो उन्होंने प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसे प्रतिभागियों की आगे मदद करने को तैयार है जो यहाॅ से सीखकर आगे विद्यार्थियों या अपने विद्यालय के लिए कुछ करना चाहते  हैं।
 कार्यक्रम में नागपुर के श्री सुरेश अग्रवाल ने प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ भी परम सत्य नहीं है, विज्ञान में एक सिद्धांत की खोज होती है लेकिन कुछ समय बाद आगे नई खोज होने पर वह सिद्धांत कुछ हद तक बदल जाता है । उनका कहना था कि विज्ञान सीखने के लिए रटने की प्रवृत्ति को खत्म करना होगा ।
फूला इुआ गुब्बारा अपने आकार से छोटे मुॅह की बाॅटल में चला गया और सुई पानी पर तैरने लगी
श्री सुरेश अग्रवाल ने प्रतिभागियों को जब एक गुब्बारे को बाॅटल में डालने को कहा तो प्रतिभागियों ने दाब लगाकर उसे अन्दर करने का प्रयास किया लेकिन वह अन्दर नहीं गया बाद में एक जलती तीली बाॅटल में डालने पर वह अपने आप अन्दर चला गया । इसी प्रकार उन्होंने पानी के ऊपर सुई को तैराकर बताया । इस प्रकार के अनेक प्रयोग श्री सुरेश अग्रवाल ने प्रतिभागियों से कराये और उसके पीछे के सिद्धांत बताने का प्रयास किया ।
 साइन्स सेन्टर (ग्वा.) म.प्र. की प्रदेश सचिव श्रीमती संध्या वर्मा ने बताया कि इस कार्यशाला को करने का उद्धेश्य है कि हम कैसे अपने आसपास की वस्तुओं से जिनका कोई मूल्य नही है, से अनेक प्रयोग कर सकते है । इस कार्यशाला में चार दिन में कम लागत के विज्ञान प्रयोग, प्रकृति अध्ययन गतिविधियाॅ, खगोलीय गतिविधियाॅ, चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या विषयों पर गतिविधियाॅ कराई  जायेगी । साथ ही एक मेगा मैजिक शो का भी आयोजन किया जायेगा तथा उसमें दिखाये गये मैजिक के पीछे का विज्ञान भी समझाया जायेगा । 
 कार्यशाला में स्त्रोत विद्धान के रूप में नागपुर के श्री सुरेश अग्रवाल, दतिया के श्री सी.पी. शर्मा, खण्डवा की श्रीमती हेमलता पालीवाल, होशंगाबाद के श्री बीएल मलैया  टीकमगढ़ के मो. शेख शाहिद रायसेन के श्री दीपक सोनी प्रशिक्षण दे रहे  है ।
 कार्यक्रम का समन्वयन साइन्स सेन्टर (ग्वा.) म.प्र. के कमल दिवेवार कर रहे है ।
(श्रीमती संध्या वर्मा)
प्रदेश सचिव
साइन्स सेन्टर (ग्वा.) म0प्र0